Bihar Election: नक्सलियों से सुरक्षा के होंगे खास इंतजाम, मास्‍क और ग्लव्स पहनकर होगी वोटिंग
Gaya News in Hindi

Bihar Election: नक्सलियों से सुरक्षा के होंगे खास इंतजाम, मास्‍क और ग्लव्स पहनकर होगी वोटिंग
बिहार चुनाव की तैयारी तेज.

Bihar Assembly Election 2020: मतदाताओं को चेहरे पर मास्क (Mask) और ग्लव्स (Gloves) पहनना जरूरी होगा. बिना मास्क के आए वोटर्स को फाइन के साथ बूथ पर मास्क दिया जाएगा.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 15, 2020, 9:53 PM IST
  • Share this:
गया. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में इस बार निर्वाचन आयोग को दो तरह की सुरक्षा की तैयारी करनी पड़ी रही है. पहली सुरक्षा की तैयारी मतदान में अलग-अलग तरीके से बाधा पहुंचाने वाले असमाजिक अपराधी और नक्सली (Naxali) संगठनों से बाचव के लिए बिहार पुलिस के साथ ही अर्धसैनिक बलों की तैनाती की रणनीति बना रही है. वहीं दूसरी सबसे अहम इन सुरक्षाकर्मी के साथ ही मतदानकर्मी और मतदाता को कोरोना से सुरक्षित करने के लिए कई तरह के इंतजाम कर रही है.

ऐसी संभावना है कि निर्वाचन आयोग अगले कुछ दिनों में चुनाव की अधिसूचना जारी कर सकती है. अधिसूचना जारी होने से पहले आयोग की दो सदस्यी टीम ने बिहार की राजधानी के साथ ही मुजफ्फरपुर, भागलपुर और गया का दौरा किया. अधिकारियों के साथ से लंबी बैठक की और सभी तरह की तैयारी और इंतजाम को लेकर चर्चा की. बोधगया में केन्द्रीय उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन और चन्दभूषण कुमार ने बैठक की जिसमें मगध प्रमंडल के पांच जिला गया,औरंगाबाद,नवादा,जहानाबाद और अरवल के साथ ही कैमुर और रोहतास डीएम,एसी शामिल हुए.

सुरक्षा इंतजाम पर चर्चा



बोधगया में हुए बैठक में बिहार सरकार के एडीजी रैंक के अधिकारी मगध प्रमंडल के आयुक्त एवं आईजी भी शामिल हुए. बैठक में सुरक्षा इंतजाम को लेकर विशेष चर्चा हुई क्योंकि ये सात जिला नक्सल प्रभावित हैं. चुनाव के दौरान ये नक्सली संगठन ज्यादा सक्रिया हो जाते हैं और चुनाव को बाधित करने के लिए पोस्टर के साथ जगह-जगह आईईडी लगाकर सुरक्षबलों को निशाना बनाना चाहतें हैं. इससे पहले के चुनाव में कई बूथ को भी ऐन मौके पर डिस्टर्ब कर चुके हैं. चुनाव आयोग की दो सदस्यीय टीम ने मीडिया से किसी तरह की बात नहीं की. पर बैठक में शामिल मगध प्रमंडल के आयुक्त असंगमा चुबा आओ ने कहा कि बैठक में सभी बिंदु पर विस्तार से चर्चा हुई है. चुनाव आयोग से जुड़े अधिकारियों ने कई तरह के निर्देश दिए हैं. वहीं स्थानीय अधिकारियों द्वारा भी कई तरह का फीडबैक भी दिया गया है जिस पर चुनाव आयोग गौर करेगी और सभी को उम्मीद है कि इस बार का चुनाव भी निष्पक्ष और शांतिपूर्ण के साथ ही सुरक्षित रूप से संपन्न करा लिया जाएगा.
ये भी पढ़ें: गोपालगंज: तेज बारिश के बाद गिरी आकाशीय बिजली, एक ही गांव के दो बच्चों की मौत

 मास्क के साथ ही ग्लव्स पहनकर वोटिंग करेंगे मतदाता

इस बार वोटिंग के दौरान मतदाताओं के लिए चेहरे पर मास्क के साथ ही हाथ में ग्लव्स पहनना जरूरी रहेगा. मतदाताओं को मास्क अपने घर से पहनकर आना होगा और ग्लव्स बूथ पर उपलब्ध कराया जाएगा. घर से मास्क नहीं पहनकर आने वाले मतदाताओं को बूथ पर मास्क उपलब्ध कराई जाएगी. पर मास्क के बदले उनसे निर्धारित जुर्माना राशि वसूली जाएगी. बूथ पर मतदाताओं की संख्या कम करने के लिए पहले बूथों की संख्या को लगभग डेढ़ गुणा कर दिया गया है. इन बूथों पर मतदाताओं के बीच सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोलाकार चिन्ह बनाया जाएगा. बूथ के मुख्य गेट के पास ही थर्मल स्क्रीनिंग और सेनेटाइजर की व्यवस्था होगी. थर्मल स्क्रीनिंग के बाद सभी मतदाता को एक हाथ के लिए ग्लब्स दिया जाएगा. उस ग्लव्स को पहनकर हाथ से ईवीएम को दबाना होगा. ईवीएम दबाने से पहले दो टेबल पर उनकी आईडी की जांच और हस्ताक्षर या अंगुठा का निशान लिया जाएगा.

  पीपीई कीट पहनकर वोटिंग कराएंगे मतदानकर्मी

वोटिंग से पहले सभी मतदाताओं का थर्मल स्क्रीनिग की जाएगी और इसमें जिनका तापमान औसत से ज्यादा होगा उन्हें तत्काल मतदान करने को रोक दिया जाएगा. ऐसे मतदाताओं को कोरोना का संदिग्ध मरीज मानते हुए अंतिम घंटे में वोटिंग करने का अवसर दिया जाएगा. इन संदिग्धों का वोटिंग कराने के दौरान मतदानकर्मी पीपीई कीट पहनकर सभी प्रकिया को पूरा करेगें. इस बार के चुनाव में मतदानकर्मी एवं सुरक्षाबलों के साथ ही स्वास्थयकर्मियों की भी विशेष ड्यूटी लगाई जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज