Bihar Assembly Elections : मांझी ने इमामगंज से दाखिल किया नामांकन, शपथ पत्र में घट गई संपत्ति

नॉमिनेशन फाइल करने के बाद अपने समर्थकों के साथ जीतन राम मांझी.
नॉमिनेशन फाइल करने के बाद अपने समर्थकों के साथ जीतन राम मांझी.

2015 के चुनाव में दिए गए शपथ पत्र में जीतन राम मांझी ने अपनी चल संपत्ति 36.42 लाख रुपये बताई थी. 2020 में उन्होंने अपनी चल संपत्ति 24.24 लाख रुपये बताई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 11:34 PM IST
  • Share this:
गया. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) के सुप्रीमो जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने बुधवार को गया जिले के इमामगंज से विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया. नामांकन में दाखिल जानकारी के मुताबिक, मांझी की संपत्ति पांच साल में 18.61 लाख रुपये घट गई. 2015 के चुनाव में दिए गए शपथ पत्र में मांझी ने अपनी चल संपत्ति 36.42 लाख रुपये बताई थी. 2020 में उन्होंने अपनी चल संपत्ति 24.24 लाख रुपये बताई है. अचल संपत्ति के नाम पर मांझी के पास महकार में पुश्तैनी घर है. मांझी ने 2015 में इसकी कीमत 13 लाख रुपये बताई थी. 2020 में उन्होंने अपने घर की कीमत 12 लाख रुपये बताई है. मांझी के पास एक दोनाली बंदूक और एक राइफल है. मांझी पर 21 हजार 317 रुपये का बिजली बिल बकाया है. बंदूक की कीमत तो वही है, मांझी के पास जो एम्बेसेडर कार है, उसकी कीमत 2015 में 1.25 लाख थी और अब 1.10 लाख है. जबकि, स्कॉर्पियो की कीमत पिछले चुनाव के समय 4.5 लाख रुपये थी, जिसकी कीमत अब 1 लाख रुपये बढ़कर 5.5 लाख हो गई है.

5 साल में पत्नी के पास गहने बढ़े

2015 के चुनाव के वक्त मांझी ने अपने ऊपर एक भी आपराधिक केस नहीं होने की जानकारी दी थी. जबकि, इस बार उन्होंने बताया है कि उनके ऊपर 6 केस चल रहे हैं. सभी केस गया में दर्ज हैं. मांझी की एफिडेविट के मुताबिक, उनके ऊपर 2014 के लोकसभा चुनाव और 2015 के विधानसभा चुनाव के वक्त आचार संहिता का उल्लंघन करने के दो मामले दर्ज हैं, वही मांझी की पत्नी शांति देवी की संपत्ति 5 साल में 4 लाख रुपये से ज्यादा कम हो गई. 2015 में मांझी ने जब शपथ पत्र दाखिल किया था, तो उन्होंने पत्नी की संपत्ति 12.27 लाख रुपये बताई थी. जबकि इस बार पत्नी की संपत्ति 8.14 लाख रुपए बताई है. हालांकि इन 5 सालों में पत्नी के पास गहने बढ़ गए हैं.



मुकाबला मांझी और चौधरी के बीच
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी दूसरी बार की इमामगंज विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं उनका मुकाबला पूर्व स्पीकर व तीन बार से रह चुके विधायक उदय नारायण चौधरी से है. पिछली बार उदय नारायण चौधरी को पूर्व मंत्री जीतन राम मांझी ने शिकस्त दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज