छुप-छुपकर मिल रहे प्रेमी-प्रेमिका को परिजनों ने पकड़ा, फिर हुआ ये 'अनोखा' काम...
Arwal News in Hindi

छुप-छुपकर मिल रहे प्रेमी-प्रेमिका को परिजनों ने पकड़ा, फिर हुआ ये 'अनोखा' काम...
गया के इमामगंज प्रखंड के विश्रामपुर गांव में प्रेमी-प्रेमिका की शादी करवाई गई.

अनोखे प्रेम विवाह का यह मामला गया जिले (Gaya District) के इमामगंज प्रखंड क्षेत्र के विश्रामपुर गांव में सामने आया है. यहां परिवारों की आपसी सहमति से प्रेमी और प्रेमिका की शादी करवाई गई.

  • Share this:


गया. प्यार परवान चढ़ा और बेकरारी बढ़ी तो छुप-छुपकर मिलने-जुलने का सिलसिला भी बढ़ गया. यह बात जब परिजनों को पता लगी तो प्रेमी-प्रेमिका की विधि-विधान से शादी करवा दी गई. मामला इमामगंज के विश्रामपुर गांव का है. यहां प्रेमी से मिलने पहुंची अरवल जिले की की प्रेमिका को राजी-खुशी से शादी के बंधन में बांध दिया गया.

अनोखे प्रेम विवाह का यह मामला गया जिले के इमामगंज प्रखंड क्षेत्र के विश्रामपुर गांव में देखने को मिला. यहां दोनों के परिवारों की आपसी सहमति से युवक-युवती की शादी करवाई गई. दहेज प्रथा के बंधन को तोड़ते हुए विश्रामपुर गांव के सुमित और अरवल जिले के किंजर गांव की अंजलि ने शादी चर्चा में है.



प्रेमी-प्रेमिका की परिजनों ने कराई शादी.

दरअसल, इमामगंज प्रखंड के विश्रामपुर गांव निवासी दिवंगत हरिद्वार सिंह के सुपत्र सुमित कुमार और अरवल जिले के किंजर के रहनेवाले विपुल सिंह की सुपत्री अंजलि की तीन साल पहले मुलाकात हुई. एक गृह प्रवेश में दोनों की मुलाकात के बाद दोनों के बीच फोन पर बातचीत का सिलसिला बढ़ा प्यार परवान चढ़ने लगा.

दोनों ने एक दूसरे से कई बार मिले. गृह प्रवेश के बाद पहली बार 25 दिसंबर 2018 को दोनों की मुलाकात हुई. इसके बाद 31 मार्च को दोनों ने जहानाबाद में मुलाकात और इसके बाद दोनों ने एक दूजे के साथ रहने की कसम खा ली. इसी बीच प्रेमिका अंजलि अपने प्रेमी से मिलने उसके गांव तक पहुंच गई जहां दोनों की शादी करवा दी गई.

गया के इमागंज के विश्रामपुर गांव में प्रेमी-प्रेमिका की पूरे विधि-विधान के साथ परिजनों ने कराई शादी.


मुखिया प्रतिनिधि बिट्टू सिंह ने बताया कि विश्रामपुर गांव स्थित शिव मंदिर में इस शादी में परिजनों के साथ पूरे गांव के लोग मौजूद रहे. दोनों तरफ के परिवारों ने वर-वधू को शुभकामनाएं दी गईं और फिर वर-वधू को बड़े ही धूमधाम से ढोल-बाजे और फूलों से सजी गाड़ी के साथ घर भेजा गया.

लड़का पक्ष के लोगों ने वर-वधू को पूरे रीति-रिवाज के साथ ग्रह प्रवेश कराया. अंजलि के चाचा अरविंद सिंह और मां सुनीता सिंह ने बताया की दोनों परिवार ने आपसी बातचीत के बाद इस युगल जोड़ी की शादी निर्णय लिया और दोनों परिवार के लोग खुश हैं.

ये भी पढ़ें:

बिहार: 'अर्जुन के द्रोणाचार्य' की ताजपोशी की इनसाइड स्टोरी, पढ़ें 10 कारण




सुशील मोदी बोले- चोट है तो जख्म दिखाएं, विधान परिषद में कांग्रेस MLC उतारने लगे कपड़े

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading