होम /न्यूज /बिहार /बौद्ध महोत्सव का CM नीतीश ने किया आगाज, बोले- सम्यक आचरण के बिना सफलता किसी काम की नहीं

बौद्ध महोत्सव का CM नीतीश ने किया आगाज, बोले- सम्यक आचरण के बिना सफलता किसी काम की नहीं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बौद्ध महोत्सव का उद्घाटन किया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बौद्ध महोत्सव का उद्घाटन किया.

सीएम नीतीश कुमार ने बोधगया का स्मृति चिन्ह देकर हेमा मालिनी को सम्मानित किया. इसके साथ ही इंडोनेशिया और लाओस एवं जापान ...अधिक पढ़ें

गया. तीन दिवसीय बौद्ध महोत्व (Three Day Buddhist Festival) का उद्घाटन सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने दीप प्रज्जवलित कर किया. सीएम के दीप प्रज्जवलन से पहले बौद्ध भिक्षुओं ने मंत्र का जाप कर महोत्सव के सफल होने की कामना की. बुद्धं शरणम् गच्छामि के उद्घोष के साथ महोत्सव का संबोधित करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि वे बुद्ध एवं बोधगया के विकास को लेकर दृढसंकल्पित हैं.

इस अवसर परअपने संबोधन में बुद्ध के अष्टांगिक मार्ग की चर्चा करते हुए सीएम ने कहा कि इसे सभी लोगों को पढ़कर मुख्य बातों को अनुसरण करने पर बल दिया. सम्यक आचरण पर जोर देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि इसके बिना मिली सफलता किसी काम की नहीं हैं. उन्होंने देश के विभिन्न राज्यों समेत कुल 9 देश से आये कलाकारों का स्वागत किया.

उद्घाटन समारोह के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसमें सबसे ज्यादा लोगों की दिलचस्पी बॉलीवुड की ड्रीम गर्ल सह सांसद हेमा मालिनी  की प्रस्तुति में थी. हेमा मालिनी ने पूरी टीम के साथ राधा रास बिहारी नाटिका को प्रस्तुत किया. इस दौरान दर्शक के साथ ही जनप्रतिनिधि और अधिकारी भी उत्साहित नजर आये.

News18 Hindi
हेमा मालिनी को स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए सीएम नीतीश कुमार


सीएम नीतीश कुमार ने बोधगया का स्मृति चिन्ह देकर हेमा मालिनी को सम्मानित किया. इसके साथ ही इंडोनेशिया और लाओस एवं जापान के कलाकारों ने अपने अपने देश की सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी. इसके साथ ही महोत्सव में बिहार गान और पूर्णिया के कलाकरो द्वारा लोकनृत्य की प्रस्तुति दी गयी.

तीन दिन के महोत्सव में बॉलीवुड के कई अन्य पार्श्व गायक, हास्य कवि एवं स्थानीय कालाकारों के साथ ही कुल 9 देश के कलाकारों की प्रस्तुति होगी. महोत्सव के दौरान सेमिनार एवं ग्राम श्री मेला का भी आयोजन किया गया है.

इस दौरान बिहार सरकार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी, पर्यटन मंत्री कृष्ण कुमार, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, कृषि सह पशुपालन मंत्री प्रेम कुमार समेत कई सांसद, विधायक, विधान पार्षद एवं अन्य जन प्रतिनिधि मौजूद रहे.

महोत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में आये डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि बुद्ध ने बिना तलवार और धर्म परिवर्तन कराये पूरे विश्व में बुद्ध धर्म का प्रचार किया. कई देश के लोग उनके विचार को आज भी मान रहें हैं. गया-बोधगया का नाम मोक्ष और ज्ञान की नगरी के रूप मं पूरे विश्व में प्रसिद्ध है. इसके विकाक के लिए केन्द्र और बिहार सरकार लगातर काम कर रही है.

गौरतलब है कि 2013 में आतंकी घटना के बाद महाबोधी मंदिर की व्यवस्था दुरूस्त की गयी है और यहां की सुरक्षा को लेकर वे अक्सर समीक्षा करते रहतें हैं. शांति और अहिंसा का संदेश देने वाले बुद्ध की ज्ञानस्थली की सुरक्षा को लेकर नित नये बदलाव किया जा रहें हैं.

News18 Hindi
बौद्ध महोत्सव पर मंच पर विराजमान सम्मानित अतिथि


वहीं, केन्द्र सरकार द्वारा देश के 16 आईकॉनिक शहर में बोधगया को शामिल करने के बाद यहां विकास के नये आयाम जोड़े जा रहें हैं. महाबोधी मंदिर के साथ ही अन्य कई स्पॉट का विकास किया जा रहा है जिसका उन्हौने खुद स्थल निरीक्षण किया है. उन्होंने आनेवाले डेढ़ साल में कल्चरल सेंटर का निर्णाण कार्य पूरा होने की उम्मीद जताई.

महोत्सव के उद्घाटन से पहले सीएम ने महाबोधी मंदिर, जयप्रकाश उद्यान, मुचलिंद सरोवर, माया सरोवर का निरीक्षण कर इसके विकास को लेकर अधिकारियों के निर्देश दिए.

ये भी पढ़ें


कैश वैन से 70 लाख लूटकर बन गया था 'बड़ा नेता', आठ साल बाद पुलिस ने गुर्गे के साथ धर दबोचा




CM नीतीश ने बिहार के लोगों को दी सरस्वती पूजा की शुभकामना, ये हैं पटना के अहम इवेंट्स

Tags: Bihar News, Buddh Mahotsav, Gaya news, Hema malini, Nitish kumar, Sushil kumar modi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें