बिहारः गया के लोग भी पी सकेंगे गंगाजल, CM नीतीश कुमार ने दी योजना को मंजूरी

गया में कैबिनेट की बैठक में सीएम नीतीश कुमार और अन्य मंत्री.

गया (Gaya) में पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की अध्यक्षता में हुई बिहार सरकार की कैबिनेट बैठक (Bihar cabinet meeting) में 30 मुद्दों पर लगी मुहर. सीएम ने गया शहर को गंगा जल उपलब्ध कराने वाली 2836 करोड़ रुपए की योजना (Ganga water lift scheme) के पहले फेज को दी मंजूरी.

  • Share this:
गया. बिहार सरकार की कैबिनेट मीटिंग (Bihar cabinet meeting) बुधवार को पहली बार गया (Gaya) में हुई. राज्य वानिकी प्रशिक्षण संस्थान में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की अध्यक्षता में हुई बैठक में कुल 30 बिंदुओं पर निर्णय लिया गया. कई मायनों में यह कैबिनेट बैठक गया के लोगों के लिए महत्वपूर्ण रही. क्योंकि कैबिनेट ने इस बैठक में ऐसे कई फैसले लिए, जिनसे गया शहर के वासियों को काफी लाभ होगा. इसके तहत सबसे महत्वपूर्ण निर्णय गंगा जल उद्वह योजना (Ganga water lift scheme) का रहा. कैबिनेट ने गंगा जल उद्वह योजना के पहले फेज के लिए 2836 करोड़ रुपए की मंजूरी दे दी है. योजना के तहत अगले दो वर्षों में गया में भी लोगों को पीने के लिए गंगा जल मिल सकेगा.

कैसे मिलेगा गंगा जल
बिहार सरकार की कैबिनेट ने जिस गंगा जल उद्वह योजना को मंजूरी दी है, उसका प्रथम चरण जून 2021 तक पूरा किए जाने का लक्ष्य है. योजना है कि मोकामा के मरांची स्थित गंगा नदी का पानी पाइपलाईन के जरिए गया के मानपुर प्रखंड के अबगीला स्थित खदान में लाया जाएगा. अबगीला में भंडारण कर रखे गए गंगा जल को शुद्ध कर यहां से लोगों को पीने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा. जानकारी के मुताबिक मोकामा के मरांची से सरमेरा एवं बरबीघा होते हुए गंगा के पानी को पाइपलाईन के जरिए नालंदा के गिरियक लाया जाएगा. गिरियक से तपोवन-वजीरगंज होते हुए गंगा जल अबगीला में स्टोर किया जाएगा.

और भी कई निर्णय
कैबिनेट मीटिंग में उत्पाद विभाग के केसों का निपटारा करने के लिए एडीजे रैंक के 74 स्पेशल कोर्ट बनाने की मंजूरी दी गई. वहीं, परिवहन विभाग की 2, राजस्व एवं भूमि सुधार और पथ निर्माण की 3-3, पशु एवं मत्स्य, गृह, समाज कल्याण, विधि और जलवायु परिवर्तन विभाग की एक-एक योजनाओं को भी मंजूरी दी गई है. इसके अलावा कैबिनेट ने राज्य के विभिन्न अस्पतालों में कार्यरत 13 डॉक्टरों को बर्खास्त करने का भी निर्णय लिया. इन डॉक्टरों पर ड्यूटी से गायब रहने का आरोप था. इधर, गया में गंगा जल लाने की योजना को मंजूरी देने पर प्रदेश के मंत्रियों कृष्णनंदन वर्मा और प्रेम कुमार ने बिहार सरकार का आभार जताया है.

ये भी पढ़ें -

गया में बोले नीतीश- हम गारंटी देते हैं हमारे रहते अल्पसंख्यक समाज की उपेक्षा नहीं होगी

 

बिहार बंद- हाथों में हथकड़ी और पैर में बेड़ियां डाल पटना की सड़कों पर निकले पप्पू यादव