गया: CO दिलीप कुमार की कोरोना से मौत, कई अधिकारी व नेता भी हो चुके हैं शिकार
Gaya News in Hindi

गया: CO दिलीप कुमार की कोरोना से मौत, कई अधिकारी व नेता भी हो चुके हैं शिकार
गया नगर के अंचलाधिकारी दिलीप कुमार की पटना AIIMS में कोरोना से मौत

इससे पहले जिले के कई अधिकारी और जनप्रतिनिधि के साथ ही कई व्यवसायी एवं चिकित्सक की कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से मौत हो चुकी है.

  • Share this:
गया. कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है और इस महामारी ने अपना नया शिकार चंदौती के अंचलाधिकारी दिलीप कुमार को बना लिया है. कोरोना (Corona) की वजह से दिलीप कुमार की मौत पटना के एम्स में इलाज के दौरान हो गई. मृतक दिलीप कुमार काफी दिनों से बीमार चल रहे थे उनकी कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. उनका इलाज गया के एएनएमसीएच (ANMCH) में चल रहा था और स्थिति गंभीर होने पर शुक्रवार की सुबह उन्हें पटना रेफर किया गया था, लेकिन  कई घंटों के इलाज के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका, जिलाधिकारी अभिषेक सिंह (Collector Abhishek Singh) समेत उनके सहयोगियों ने दिलीप कुमार को मेहनती और कर्मठ बताते हुए शोक व्यक्त किया है. वहीं सोशल मीडिया पर आमलोगों के द्वारा श्रद्धांजलि दी जा रही है. मृतक दिलीप कुमार सुपौल जिला के मूल निवासी हैं और बिहार सरकार ने शुक्रवार को अधिसूचना जारी कर खिजरसराय के बंदोबस्त पदाधिकारी के पद पर स्थानांतरण किया था.

योजना पदाधिकारी एवं पूर्व जिप चेयरमेन की भी हो चुकी है मौत
बता दें कि इससे पहले जिले के कई अधिकारी और जनप्रतिनिधि के साथ ही कई व्यवसायी एवं चिकित्सक की कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत हो चुकी है. जुलाई की शुरुआत में जिला योजना पदाधिकारी संजय कुमार सिन्हा की मौत हो गई थी.  जिले के प्रख्यात चिकित्सक अश्वनी नंदकुलयार और मगध डेयरी के एमडी अवधेश कुमार कर्ण की भी मौत कोरोना संक्रमण की वजह से हुई. दो दिन पहलेे जिला परिषद के पूर्व चेयरमैन और जदयू की एमएलसी मनोरमा देवी के पति बिंदी यादव भी कोरोना की वजह से अपनी जान गवां चुुकें हैं. इसके साथ ही कई प्रशासनिक अधिकारी,  पुलिस पदाधिकारी, सिपाही, बैंककर्मी,  चिकित्सक, स्वास्थ्यय कर्मी समेत सैकड़ों लोग अभी  कोरोना से संक्रमित होकर आइसोलेशन  वार्ड अथवा होम आइसोलेट हैं.

जिले में बढ़ायी जा रही है आइसोलेशन बेड की संख्या
केंद्रीय परिवार एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल की अध्यक्षता में विशेष टीम ने पटना के साथ ही गया का दौरा कर कई निर्देश दिए थे जिसके बाद गया के एएनएमसीएच समेत अन्य अस्पतालों में कोरोना को लेकर सुविधाएं बढ़ाई जा रही है. एएनएमसीएच अस्पताल में कोविड-19  कंट्रोल रूम शुरू किया गया है जहां मरीज एवं उनके परिजन फोन 24 घंटे कॉल कर जरूरी सलाह ले सकते हैं. यहां डॉक्टरों के साथ ही निगरानी के लिए एक आईएएस और आईपीएस की तैनाती की गई है. एएनएमसीएच के साथ ही जिले के 8 केंद्रों पर कोरोना का सैंपल लेकर जांच की जा रही है.



गया के जिलाधिकारी ने आम लोगों से की यह अपील

कंटेंटमेंट जोन में रैपिड एक्शन टीम घर घर जाकर सैंपल लेकर तुरंत जांच रिपोर्ट दे रही है. एनएमसीएच, जिला अस्पताल एवं अनुमंडल अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए बेडों की संख्या जा रही है. इसके साथ ही गया-डोभी रोड पर अवस्थित एम्स निजी अस्पताल को भी कोरोना मरीजों के लिए चिन्हित किया गया है. मगध प्रमंडल के आयुक्त असंगमा चुबा आओ और जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने आम लोगों से स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी का पालन करने का आग्रह किया है और किसी भी तरह का लक्षण  पाए जाने पर एएनएमसीएच और जिला के कंट्रोल रूम पर फोन कर सलाह लेने की अपील की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading