लाइव टीवी

COVID-19: कोरोना महामारी फैली तो 'कोविड' रख लिया पहली संतान का नाम, छिपा है ये 'खास' मैसेज...
Gaya News in Hindi

News18 Bihar
Updated: April 4, 2020, 3:54 PM IST
COVID-19: कोरोना महामारी फैली तो 'कोविड' रख लिया पहली संतान का नाम, छिपा है ये 'खास' मैसेज...
गया के ANMMCH में जन्मे बच्चे का नाम कोविड रखा गया.

बच्चे के जन्म के दौरान घर से लेकर अस्पताल तक में कोरोना और कोविड-19 की ही चर्चा होती रही. इसलिए इस दंपती ने प्रेरित होकर अपने बच्चे का नाम कोविड रखने का फैसला किया है.

  • Share this:
गया. भारत समेत पूरे विश्व में इस समय COVID- 19 वायरस का प्रकोप है. एक तरफ कई देशों में लॉकडाउन (Lockdown) करके इस कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona virus infection) को कम करने की कोशिश की जा रही है. वहीं, वैज्ञानिक इस बीमारी की दवाई की खोज में लगे हैं. इस बीच गया के एक दंपती ने अपने पहले बच्चे का नाम ही कोविड (COVID) रखने का फैसला किया है.

ANMMCH में दिया बच्चे को जन्म
दरअसल कोच प्रखंड के बरगांव निवासी मनीष कुमार की पत्नी प्रियांजली कुमारी को शुक्रवार को अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल (ANMMCH) में एक बेटे को जन्म दिया. बच्चे के जन्म के दौरान घर से लेकर अस्पताल तक में कोरोना और कोविड-19 की ही चर्चा होती रही. इसलिए इस दंपती ने प्रेरित होकर अपने बच्चे का नाम कोविड रखने का फैसला किया है.

कोरोना को हराने का संदेश



अपने पहली संतान का नाम कोविद रखने को लेकर पिता मनीष ने बताया बच्चे के जन्म से पहले उनके मन में कोरोना को लेकर उपजे हालात को लेकर कई तरह की चिंता थी. घर से अस्पताल तक आने में भी कई तरह की परेशानी उठानी पड़ी, पर जब अस्पताल में उसे स्वस्थ बच्चे का जन्म हुआ तो उनके परिवार की सारी परेशानी और चिंता दूर हो गयी. इस विपरीत परस्थिति में मिली खुशी को यादगार बनाने के लिए उन्होंने अपने बच्चे का नाम कोविड रखने का फैसला किया है.



परिवार ने भी दे दी सहमति
मनीष एक निजी कंपनी में सर्वेयर काम काम करते हैं और यह उनकी पहली संतान है. पहली संतान को पाकर वे और उनकी पत्नी के साथ ही समूचे परिवार के सभी सदस्य काफी खुश और उत्साहित हैं. बच्चे का जन्म कोविड रखने की सहमति परिवार के सभी सदस्यों ने भी दे दी है.

मानें सरकार का निर्देश
इस महामारी की गंभीरता की चर्चा करते हुए मनीष ने सभी देशवासियों सरकार के गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है. वहीं मनीष के रिश्तेदार धीरज ने बताया कि आज कोरोना से डरने के बजाय सतर्क रहने की जरूरत है. लोगों में जागरूकता को लेकर ही उनके परिवावालों ने परिवार के नये सदस्य का नाम कोविड रखा है.

लालू ने अपनी बेटी का नाम मीसा रखा था
कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉकडाउन में जन्म लेने वाले बच्चें का नाम केविड रखने के बाद कुछ लोगों को आपातकाल की याद ताजा हो गयी. दरअसल आपातकाल के दौरान मीसा कानून के तहत तत्कालीन इंदिरा गांधी सरकार द्वारा विरोधियों के पकड़कर जेल मे बंद किया जा रहा था. इस कानून के विरोध के रूप में उस समय के छात्र नेता रहे और बाद में बिहार के सीएम एवं देश के रेलमंत्री बने लालू प्रसाद यादव ने इस कानून का विरोध करने के लिेए अपनी पहली संतान का नाम ही मीसा रख लिया था.

याद आता रहेगा कोरोना का कहर
अभी मीसा भारती राजद कोटे से राज्यसभा की सदस्य हैं. मीसा का नाम लेते ही लोगों को जिस तरह से इंदिरा गांधी की आपातकाल की याद आ जाती है. उसी तरह आनेवाले दिनों में कोंच के बरगांव के कोविड का नाम लेते ही लोगों को कोरोना महामारी के प्रभाव, लोगों को हुई परेशानी और उससे बचाव के लिए अपनाये जा रहे उपाय बरबस ही याद आ जाएंगे.

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2020, 2:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading