लाइव टीवी

COVID-19: गया के इस अस्पताल से आई राहतभरी खबर, 21 संदिग्धों की रिपोर्ट आई नेगेटिव
Gaya News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 23, 2020, 6:51 PM IST
COVID-19: गया के इस अस्पताल से आई राहतभरी खबर, 21 संदिग्धों की रिपोर्ट आई नेगेटिव
कोराना वार्ड के पदाधिकारी ने बताया कि बोधगया के बीटीएमसी के ड्राइवर की मौत के बाद लिये गये सैंपल की जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है.

एएनएमसीएच के अधीक्षक विजयकृष्ण प्रसाद (Vijayakrishna Prasad) ने कहा कि अस्पताल की सभी तरह की ओपीडी सेवा बंद कर दी गयी है और गंभीर रूप से ओपीडी में आ रहे मरीजों का इमरजेंसी में ही इलाज किया जा रहा है.

  • Share this:
गया. गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज (Anugrah Narayan Magadh Medical College) से कोरोना को लेकर राहतभरी खबर सामने आई है. अभी तक यहां के सभी संदिग्धों की रिपोर्ट नेगेटिव (Negative Report) आई है. अस्पताल के कोरोना वार्ड (Corona Ward) के नोडल पदाधिकारी डॉ एनके पासवान ने बताया कि फरवरी से अब तक एएनएमसीएचे के आइसोलेशन वार्ड में कुल 23 संदिग्ध मरीज को भर्ती किया गया है, जिनमें से कुल 21 की रिपोर्ट आरएमआरआई से मिल गयी है. इसमें सभी 21 रिपोर्ट नेगेटिव आई है. नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद संदिग्ध मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी जा रही है. उसे स्वास्थय विभाग द्वारा जारी गाईडलाईन का पालन करने की हिदायत भी दी गई है. अभी दो संदिग्ध मरीज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं, जिनकी जांच रिपोर्ट आरएमआरआई से आनी बाकी है.

12 स्वास्थ्यकर्मियों को घर में किया गया क्वारंटाइन
कोराना वार्ड के पदाधिकारी ने बताया कि बोधगया के बीटीएमसी के ड्राइवर की मौत के बाद लिये गये सैंपल की जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है. पर सतर्कता के तौर पर इमरजेंसी वार्ड में उनका इलाज करने वाले एक डॉक्टर, दो जूनियर डॉक्टर, तीन इंटर्न और चार सिस्टर समेत कुल 12 स्वास्थ्यकर्मियों को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है. मृतक को पहले से कई तरह की बीमारी थी और उसका इलाज काफी दिनों से चल रहा था.  पर मौत से पहले उसे सर्दी-खासी की शिकायत थी. इसलिए एहतियात के तौर पर उसकी मृत्यु के बाद सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है. इसके साथ ही दूसरे प्रदेशों से आये 33 लोगों का सैंपल लिया गया है, जिनमें से एक की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है और बांकी की रिपोर्ट आनी अभी बांकी है.

एएएनएमसीएच का ओपीडी बंद



एएनएमसीएच के अधीक्षक विजयकृष्ण प्रसाद ने कहा कि स्वास्थय विभाग के गाईडलाईन के अनुसार अस्पताल में तैयारी और इलाज की व्यवस्था की जा रही है. अस्पताल की सभी तरह की ओपीडी सेवा बंद कर दी गयी है और गंभीर रूप से ओपीडी में आ रहे मरीजों का इमरजेंसी में ही इलाज किया जा रहा है.  इससे इमरजेंसी में मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई है. इसलिए ओपीडी में आने वाले सामान्य मरीजों को अपने नजदीकी अस्पताल में जाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है. अस्पताल में रूटीन होने वाले ऑपरेशन को रोक दिया गया है. वहीं, स्वास्थय विभाग के प्रधान सचिव के आदेश पर 100 बेड का अतिरिक्त आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है,जबकि 20 बेड का आइसोलेशन वार्ड पहले से काम कर रहा है.

(रिपोर्ट- अरूण कुमार)

ये भी पढ़ें-

Janata Curfew: छात्रों ने AMU में थाली बजाकर सीएए-एनआरसी के खिलाफ की नारेबाजी

आम आदमी की थाली पर पड़ा कोरोना का खौफ, सब्जियां महंगी होने से मचा हाहाकार

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 6:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर