पार्टनर को फंसाने कर डाली नकली डकैती, जुआरी के नाटक का ऐसे हुआ पर्दाफाश
Gaya News in Hindi

पार्टनर को फंसाने कर डाली नकली डकैती, जुआरी के नाटक का ऐसे हुआ पर्दाफाश
पूछताछ में पुलिस ने पूरे मामले पर शक हुआ.

अपने पार्टनर को फंसाने के लिए जुआरी (Gambler) ने अपने ही घर नकली डकैती का पूरा खेल रचा. लेकिन पुलिस की पूछताछ में पूरा मामला उल्टा पड़ गया.

  • Share this:
गया. बिहार के गया में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. जुआ और अय्याशी में लाखों रुपए गंवाने वाले सख्स ने अपने ही घर में डकैती (Robbery) का नाटक रच दिया. अपने सहियोगियों के जरिए अपनी ही पत्नी और भांजी पर नकली हथियार का भय दिखाकर डकैती का पूरा खेल प्लान किया. फिर जुए में साथ बैठने वाले पार्टनर को फंसाने के लिए डकैती की शिकायत पुलिस (Police) से भी कर दी. पर पुलिस की छानबीन के बाद मामले उलटा पड़ा गया और वह खुद ही अपने नाटक में फंस गया.

दरअसल, सोमवार की शाम में कोतवाली थाना के झीलगंज में परशुराम सिंह के मकान में भाड़े पर रहने वाले संतोष कुमार ने पुलिस को अपने घर में डकैती की सूचना दी. पुलिस के पहुंचने पर संतोष की पत्नी नीलम कुमारी ने बताया कि तीन अपराधियों ने उन्हें और उनकी भांजी के सिर पर हथियार रखकर पलंग के अंदर बक्से में रखी 3 लाख नगद और आभूषण की डकैती कर ली है. इसके बाद कोतवाली थानाध्यक्ष के साथ ही सदर डीएसपी ने भी मौके पर पहुंचकर छानबीन शुरू की. बार-बार पुछताछ के बाद परिजनों और आस-पास के लोगों के लोगों के बयान में विरोधाभास दिखा. इसके बाद पुलिस ने संतोष से कड़ाई से पुछताछ शुरू की जिसमें उसने खुद के घर में डकैती के नाटक की साजिश करने की बात कबूल ली.

अय्याशी पड़ी महंगी



इस संबंध में कोतवाली थानाध्यक्ष रामाकांत तिवारी ने बताया कि संतोष एक मेडिकल दुकान में स्टॉफ के रूप में काम करता है. वह पिछले एक माह में अमित कुमार नामक सट्टा गिरोह के साथ 3.5 लाख रुपए जुआ में हार गया था. 23 अगस्त को संतोष ने अमित,पवन और मोहित के साथ मिलकर अय्याशी के लिए 10 हजार में स्टेशन रोड स्थित एक होटल में एक लड़की बुलाया था. सभी ने नशीली पदार्थ का सेवन भी किया था. इस रात को होटल में ही संतोष की लाखों रुपए की चेन गुम हो गई थी. इसके बाद सभी एक-दूसरे पर दोषारोपण करने लगे थे. 3.5 लाख रुपए जुआ में हारने की सूचना संतोष ने अपनी पत्नी को नहीं दी थी. फिर परिवार से बचने के लिए अपने साथियों के साथ डकैती का नाटक रच दिया. पर इस नाटक में वह खुद ही फंस गया है. पुलिस संतोष के साथ ही उनके सहयोगियों पर भी कानून कार्रवाई की तैयारी कर रही है.
ये भी पढ़ें: झांसा देकर प्रेमी ने नाबालिग को बुलाया यूपी, फिर गन्ने के खेत में हुआ गैंगरेप

ऐसे हुआ पुलिस को शक

संतोष को मेडिकल दुकान से 10 हजार महीना मिलता है. इतनी कम आदमनी में घर में 3 लाख जमा पूंजी के डैकती की सूचना से पुलिस को शक हुआ. दरअसल, संतोष अमित के साथ काफी दिनों से जुआ और नशा के धंधे से जुड़ा हुआ है. इसमें उसने लाखों रुपए कमाया था. फिर पिछले महीने जुआ में हार गया. जमा पूंजी के खत्म होने और चेन गुम हो जाने के बाद वह मानसिक रूप से परेशान रहने लगा था. फिर डकैती का नाटक रच कर जुआ के सरदार अमित को फंसाने का चाल चला. पर अमित के साथ ही वह खुद भी फंस गया. एसएसपी राजीव मिश्रा ने कहा कि 7 बजे शाम में बीच बाजार में डकैती की घटना की सूचना से उन्हें शक हुआ. इसलिए उऩ्होंने थानाध्यक्ष के साथ ही सदर डीएसपी को मौके पर तुरंत भेजा ताकि मामले का खुलासा जल्द हो सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज