लाइव टीवी

सेनारी नरसंहार कांड में 15 दोषी करार, 17 साल पहले 34 लोगों की हुई थी निर्मम हत्या
Gaya News in Hindi

RAGHIB AHSAN | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: October 27, 2016, 5:09 PM IST
सेनारी नरसंहार कांड में 15 दोषी करार, 17 साल पहले 34 लोगों की हुई थी निर्मम हत्या
सेनारी हत्याकांड में 15 दोषी करार (Etv photo)

बिहार के जहानाबाद के सेनारी नरसंहार कांड में 15 लोगों को दोषी करार दिया गया है जबकि 23 लोगों को कोर्ट ने बरी कर दिया है. जहानाबाद जिला कोर्ट के एडीजे थ्री ने बुधवार को इस केस में फैसला सुनाया.

  • Share this:
बिहार के चर्चित सेनारी नरसंहार कांड में 15 लोगों को दोषी करार दिया गया है जबकि 23 लोगों को कोर्ट ने बरी कर दिया है. जहानाबाद जिला कोर्ट के एडीजे थ्री ने बुधवार को इस केस में फैसला सुनाया.

इस नरसंहार में कोर्ट ने वमेश सिंह, मुंगेश्वर सिंह, बुधन यादव, बुटाई यादव, सतेंद्र दास, ललन मांझी, गोपाल साव, दुखित पासवान, करीमन पासवान, गोदाई पासावान, उमा पासवान, विनय पासवान, अरविंद कुमार, लालू यादव, गनौरी मोची को कोर्ट ने दोषी ठहराया है.

इन सभी लोगों को धारा  146, 302/149, 307/149 और ईएस एक्ट 3/4  के तहत दोषी पाया गया है. इन धाराओं के तहत किसी घटना को अंजाम देने के लिए पांच से ज्यादा लोगों का इक्ट्ठा होना और गलत इटेंशन के साथ मर्डर करने का मामला है.



इन सभी लोगोें के खिलाफ सजा का ऐलान 15 नवंबर को किया जाएगा.



ये लोग बरी किये गए 

मोहम्मद इदरीश, रामविलास यादव, कलमेश यादव, सुरेश यादव, भगलु यादव, नरेश यादव, दुधेश्वर पासवान, देवरत्न यादव, उमा ठाकुर, एन अंसारी, एतवार यादव, कृष्णा यादव, नाथुन यादव, रामशीष यादव, जगदीश यादव, अख्तर कसाई, अजय यादव, राजेंद्र यादव, धनपत मिस्त्री, उदय मिस्त्री, रामेश्वर यादव, दशरथ यादव को कोर्ट ने बरी कर गिया है.

18 मार्च 1999 को हुई इस घटना में 34 लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. 18 मार्च की रात प्रतिबंधित एमसीसी के हथियारबंद उग्रवादी दस्ते ने गांव को चारों ओर से घेरने के बाद इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया था.

ये भी पढ़ें, सेनारी नरसंहार के 17 साल बाद आज आयेगा फैसला, गला रेत कर की गई थी 34 लोगों की हत्या

गांव के 34 लोगों को उनके घरों से जबरन निकाला गया और उनकी गांव के उत्तर सामुदायिक भवन के पास 'बधार' में ले जाकर गर्दन रेतकर हत्या कर दी गई थी.

सेनारी हत्याकांड में दोषी (ईटीवी फोटो)
सेनारी हत्याकांड में दोषी (ईटीवी फोटो)


इस पूरे मामले में चिंता देवी के बयान पर गांव के चौदह लोगों सहित कुल सत्तर नामजद लोगों को अभियुक्त बनाया गया था. सत्तर आरोपियों में से चार की मौत सुनवाई के दौरान हो चुकी है जबकि 34 का ट्रायल पूरा हो चुका है जिनकी मामले में गिरफ्तारी हो चुकी थी. ये सभी लोग जेल के अंदर हैं.

फैसले की तिथि निर्धारित होने के बाद पूरे जिले के लोगों की निगाहें न्यायालय पर टिकी हुई है. वहीं इस फैसले को लेकर एसपी दिलीप कुमार मिश्रा कुर्था, करपी और वंशी थाने को अलर्ट किया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 27, 2016, 2:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading