लुभावने स्लोगन के जरिए लोगों को ठग रही है JDU: जीतन राम मांझी

News18 Bihar
Updated: September 5, 2019, 6:29 PM IST
लुभावने स्लोगन के जरिए लोगों को ठग रही है JDU: जीतन राम मांझी
एनआरसी के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि बीजेपी एनआरसी के जरिए एससी और अल्पसंख्यक समाज को देश से बाहर भगाने की साजिश रच रही है.

एनआरसी के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि बीजेपी एनआरसी के जरिए एससी और अल्पसंख्यक समाज को देश से बाहर भगाने की साजिश रच रही है.

  • Share this:
गया. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्‍दुस्‍तानी आवाम मोर्चा (Hindustani Awam Morcha) के प्रमुख जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने बीजेपी-जेडीयू की सरकार पर कड़ा प्रहार किया है. उसे लुभावने स्लोगन के जरिए लोगों को ठगने का आरोप लगाया है.

गया के गोदावरी स्थित आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मांझी ने सीएम नीतीश कुमार के नए स्लोगन पर तंज कसते हुए कहा कि जेडीयू में तलवार और ढाल वाली स्थिति बनी हुई है जिसकी वजह से जेडीयू को अपना स्लोगन चेंज करना पड़ा है.

NRC के जरिए एससी और अल्पसंख्यक समाज को भगाने की साजिश
एनआरसी के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि बीजेपी एनआरसी के जरिए एससी और अल्पसंख्यक समाज को देश से बाहर भगाने की साजिश रच रही है जिसका विरोध उनकी पार्टी हरेक स्तर पर करेगी.

प्रशासन पर लगाया वनाधिकर कानून के उल्लंघन का आरोप
उन्होंने गया जिला प्रशासन पर वनाधिकर कानून के उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए वन क्षेत्र में रहने वाले लोगों को बेदखल और परेशान करने की बात कही. पिछले दिनों बांके बाजार के सोनदाहा में वन विभाग द्वारा की गयी कार्रवाई को अन्यायपूर्ण बताते हुए पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा कि जिस जमीन का पर्चा और परवाना सोनदाहा के लोगों को मिला था कई दशक बाद वन विभाग उसे अपनी जमीन बताकर घर-द्वार तोड़ रहा है और मारपीट करते हुए एफआईआर दर्ज कर रहा है. इसके लिए उन्होंने जिलाधिकारी को भी पत्र लिखकर वनाधिकार कानून लागू करने और सोनदाहा के लोगों पर वन
विभाग द्वारा दर्ज किए केस को वापस लेने की मांग की.
Loading...

(रिपोर्ट- अरुण चौरसिया)

ये भी पढ़ें-

'ठीके तो है नीतीश कुमार' पर RJD का पलटवार-बिहार जो है बीमार

नए स्लोगन में छिपी है JDU की ये खास रणनीति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 6:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...