CM नीतीश के सपने को पूरा करने में टॉप पर है बिहार का ये जिला, इस मामले में भी आया था अव्वल
Gaya News in Hindi

CM नीतीश के सपने को पूरा करने में टॉप पर है बिहार का ये जिला, इस मामले में भी आया था अव्वल
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पिछले साल पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की पहल पर केंद्र सरकार द्वारा चलाए गए जल शक्ति अभियान में भी गया जिला को पूरे राष्ट्र में प्रथम स्थान मिला था

  • Share this:
गया. जल-जीवन-हरियाली मिशन (Jal Jeevan Hariyali Mission) के अंतर्गत सभी जिलों से प्राप्त प्रतिवेदन एवं जल-जीवन-हरियाली पोर्टल पर अंकित आंकड़ों के आधार पर मई 2020 की ड्राफ्ट रैंकिंग में गया सम्पूर्ण बिहार में प्रथम स्थान प्राप्त किया है. जल-जीवन-हरियाली पोर्टल पर अंकित कुल 10 प्रपत्रों में कुल 100 नंबर में 56.94 नंबर प्राप्त कर समेकित रैंकिंग में गया प्रथम स्थान प्राप्त किया.  दूसरे नंबर पर वैशाली एवं तीसरे नंबर पर समस्तीपुर जिला रहा.

आहर पइन और चैकडेम की मरम्मती पर जोर
जल-जीवन-हरियाली योजना के तहत वृक्षारोपण के साथ ही कई अन्य क्षेत्र में काम किया जा रहा है. जिन क्षेत्रों में गया ने विशेष उपलब्धि प्राप्त की है उनमें 5 एकड़ तक के 578 जल संरचनाओं में शत-प्रतिशत कार्य प्रारंभ है. लघु जल संसाधन विभाग द्वारा 47 में से 23 चेक डैम में कार्य प्रारंभ करा दिया गया है. 2068 आहर में से 1381 में जीर्णोद्धार कार्य प्रारंभ कराए गए हैं तथा 1281 में कार्य पूर्ण कराए जा चुके हैं. सभी 771  पइनों का जीर्णोद्धार कराया जा चुका है.

जल स्रोतों के सृजन में टॉप पर
12418 चापाकलों के समीप सोख़्ता का निर्माण कार्य प्रारंभ कराया गया, जिनमें से 11931 चापाकलों के समीप सोख़्ता का निर्माण कार्य पूर्ण कराया जा चुका है. गया के कुल 630 चेक डैम व जल संचयन के अन्य संरचनाओं में से 332 में निर्माण कार्य प्रारंभ कराए गए हैं.  नए जल स्रोतों के सृजन में भी गया ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है. पशु एवं मत्स्य विभाग द्वारा नए जल स्रोतों के सृजन में गया चौथे पायदान पर है.



जैविक खेती और टपकन सिंचाई पर जोर
भवनों में छत वर्षा जल संचयन के अंतर्गत निर्धारित लक्ष्य 834 में से 747 में कार्य प्रारंभ कर दिए गये हैं तथा शिक्षा विभाग के 583 भवनों में छत वर्षा जल संचयन का कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं. स्वास्थ्य विभाग के 117 भवनों में से 56 भवनों में छत वर्षा जल संचयन का कार्य प्रारंभ कराए गए तथा 36 में कार्य पूर्ण कराए गए हैं. पौधाशाला सृर्जन के अंतर्गत गया में 827300 पौधे लगाए गए हैं. 8788.5 एकड़ में जैविक खेती एवं टपकन सिंचाई कराई जा रही है.

जल जीवन हरियाली अभियान के तहत गया जिला में आहर व पइन का निर्माण.


मई महीने में राज्य के रैंकिंग में गया जिला को अव्वल स्थान मिलने पर जिलाधिकारीअभिषेक सिंह ने जल जीवन हरियाली योजना के तहत कार्य करने वाले सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों को बधाई दी है और शुरू की गयी सभी  योजना को पूरा कराने के लिए और ज्यादा मेहनत करने की अपील की है.

जलशक्ति अभियान में भी आया था प्रथम स्थान
गौरतलब है कि पिछले साल पीएम नरेंद्र मोदी की पहल पर केंद्र सरकार द्वारा चलाए गए जल शक्ति अभियान में भी गया जिला को पूरे राष्ट्र में प्रथम स्थान मिला था. इसके तहत भूमिगत जल स्रोत को ठीक करने के लिए कई कदम उठाए गए थे.

ये भी पढ़ें

'संकटमोचक दोस्त' रघुवंश बाबू की बीमारी से परेशान हुए लालू, बेचैनी से रात में नहीं आई नींद!

Bihar Election: विधानपरिषद की 9 सीटों के लिए नामांकन आज से, कोरोना संकट में इस नियम से होगा चुनाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading