लाइव टीवी

गया हत्याकांड: प्रशासन से जांच का भरोसा मिलने के बाद काम पर लौटे 45 हजार बुनकर

News18 Bihar
Updated: January 16, 2019, 3:57 PM IST
गया हत्याकांड: प्रशासन से जांच का भरोसा मिलने के बाद काम पर लौटे 45 हजार बुनकर
गया में काम पर लौटे हजारों बुनकर

गया के पटवा टोली में हर दिन लगभग एक करोड़ रुपए का कारोबार होता है. इसके साथ ही प्रतिदिन मजदूरों को लगभग 45 लाख रुपए का भुगतान किया जाता है.

  • Share this:
बिहार के गया में एक नाबालिग लड़की की हत्या के बाद उसके परिजनों को कथित तौर पर फंसाए जाने के विरोध में हड़ताल पर गए 45 हजार बुनकर काम पर लौट आए हैं. दरअसल, मानपुर के पटवाटोली में नाबालिग के हत्या के बाद उसके परिजनों को जेल भेजे जाने के विरोध में पटवाटोली में 15 हजार पावरलूम बंद कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए थे.

रविवार को वस्त्र उद्योग बुनकर सेवा समिति के अध्यक्ष प्रेम प्रकाश पटवा ने बताया कि डीआईजी और डीएम ने लोगों के 7 दिन का समय मांगा है और उसके अंदर जांच कर दोषियों को सजा दिलाने का आश्वासन दिया है. इसके बाद पटलाटोली में रविवार को बुनकरों ने हड़ताल खत्म कर दिया. उन्होंने कहा कि अगर 7 दिनों के अंदर मामला साफ नहीं होता है तो आगे फिर से आंदोलन किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- OPINION: गया में हुई बर्बर हत्या या ऑनर किलिंग, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलेंगे राज

दरअसल, गया के बुनियादगंज थाना के पटवा टोली से 28 दिसंबर से लापता नाबालिग लड़की का शव 6 जनवरी को पटवा टोली के कुछ दूर नदी के किनारे झाड़ी में मिला था.

ये भी पढ़ें- गया में गैंगरेप-मर्डर या ऑनर किलिंग? मृतक लड़की के माता-पिता गिरफ्तार

आपको बता दें कि पटवा टोली में हर दिन लगभग एक करोड़ रुपए का कारोबार होता है. इसके साथ ही प्रतिदिन मजदूरों को लगभग 45 लाख रुपए का भुगतान किया जाता है. ऐसे में लगातार कई दिनों से लूम ठप होने से करोड़ों का नुकसान हो रहा था. (एलेन लिली की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-
Loading...

गया हत्याकांड: जानिए क्या कहती है पुलिस की 'थ्योरीऔर क्यों उठ रहे हैं इस पर सवाल

गया हत्याकांड: हड़ताल पर 45 हजार बुनकर, करोड़ों रुपये का रोज हो रहा नुकसान

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2019, 8:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...