गया में गैंगरेप-मर्डर या ऑनर किलिंग? मृतक लड़की के माता-पिता गिरफ्तार

एसपी के निर्देश पर 4 जनवरी को गुमशुदगी का सनहा दर्ज हुआ और 6 जनवरी को नाबालिग का क्षत-विक्षत शव घर और थाना के बीच में बरामद हुआ. ऑनर किलिंग के शक में पुलिस ने माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया है.

News18 Bihar
Updated: January 11, 2019, 1:23 PM IST
News18 Bihar
Updated: January 11, 2019, 1:23 PM IST
गया में एक नाबालिग लड़की की हत्या की गुत्थी उलझती जा रही है. परिजन इसे गैंगरेप-मर्डर बता रहे हैं तो पुलिस इसे ऑनर किलिंग के एंगल से भी देख रही है. दरअसल गया में बुनियादगंज के पटावाटोली से 28 दिसंबर से लापता नाबालिग का शव 6 जनवरी को मिला था. शव मिलने से आक्रोशित परिजनों ने रेप के बाद हत्या की बात कहते हुए पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया था. लेकिन पुलिस इसे ऑनर किलिंग का मामला बता कर मृतक के माता-पिता एवं अन्य सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया है.

घटना के बारे में परिजनों का कहना है कि बुनियादगंज थाना के पटवा टोली की निवासी 16 साल की एक नाबालिग लड़की 28 दिसंबर की शाम से लापता थी. काफी खोजबीन के बाद परिजन बुनियादगंज थाना पहुंचे तो पुलिस ने मामले दर्ज करने में बहानेबाजी करते हुए लौटा दिया. इस बीच एसपी के निर्देश पर 4 जनवरी को गुमशुदगी का सनहा दर्ज हुआ और 6 जनवरी को नाबालिग का क्षत-विक्षत शव घर और थाना के बीच में बरामद हुआ.

ये भी पढ़ें- बिहार में अत्याधुनिक हथियारों से मर्डर हुआ आम, फिर बरामद हुआ AK-56



शव मिलने के बाद मृतक के पिता ने आरोप लगाया था कि रेप के बाद उसके बेटी की हत्या कर दी गई, जिसमें धारदार हथियार के साथ ही एसिड का प्रयोग किया. और मामला दर्ज करने के बाद भी पुलिस ने किसी तरह का कदम नहीं उठाया. हालांकि पुलिस इसे ऑनर किलिंग के एंगल से देख रही है. गया के एसएसपी राजीव मिश्रा के अनुसार मां और बड़ी बहन ने मृतक के 31 जनवरी को लौटने की बात स्वीकर किया है, लेकिन पहले के बयानों में वे इस बात को छिपा रहे थे. बकौल एसएसपी इससे इनकी मिलीभगत की आंशका सही साबित हो रही है.

ये भी पढ़ें- गया के अलावा इस शहर में मिल रहा है महंगा पेट्रोल-डीजल, जानें आज के नए रेट्स

हालांकि एसएसपी ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद पूरे मामले का खुलासा हो सकता है. पुलिस इसे गैंगरेप की वारदात नहीं मान रही है और इस बीच पुलिस ने माता-पिता और एक युवक एवं पिता के दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया है. बहरहाल इस घटना ने राजनीतिक रंग भी लेना शुरू कर दिया है. और इसके विरुद्ध में पटवा टोली में हजारों महिला-पुरुषों ने अपना पावर लूम भी बंद रखा था.

रिपोर्ट - अरुण कुमार चौरसिया
Loading...

ये भी पढ़ें- पुलिस मुख्यालय का बड़ा फैसला, सस्पेंड किए गए पुलिसकर्मी होंगे बहाल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...