बिहार: उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर, दरोगा सहित 4 पुलिसकर्मी निलंबित, अवैध वसूले के आरोप

गया: मद्य निषेध विभाग के इंस्पेक्टर समेत कई पुलिसकर्मियों पर निलंबन की कार्रवाई

Gaya News: उत्पाद विभाग के एक इंस्पेक्टर एवं दारोगा सहित दो सिपाही के विरुद्ध नशे में रहे एक युवक को पकड़ कर छोड़ने का आरोप है. घटना का खुलासा होने पर आनन-फानन में झूठी प्राथमिकी दर्ज करने का भी आरोप लगा है.

  • Share this:
गया. शराब के नशे में गिरफ्तार युवक को छोड़ने के एवज में 50, 000 हजार रिश्वत की मांग करने के मामले के आरोप में मद्य निषेध विभाग ने इंस्पेक्टर समेत कई पुलिसकर्मियों पर बड़ी कार्रवाई की है. मद्य निषेध विभाग के विशेष अधीक्षक ने इंस्पेक्टर मनोज कुमार राय, दारोगा ओमप्रकाश कुमार, सिपाही हरेंद्र कुमार और सिपाही भगवान शर्मा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. बताया जा रहा है कि गया के सहायक आयुक्त मद्य निषेध की अनुशंसा पर ये एक्शन लिया गया है. ये सभी पुलिसकर्मी गया  में ही पदस्थापित थे.

मामले के बारे में बताया जा रहा है कि उत्पाद विभाग के एक इंस्पेक्टर एवं दारोगा सहित दो सिपाही के विरुद्ध नशे में रहे एक युवक को पकड़ कर छोड़ने का आरोप है. यही नहीं घटना का खुलासा होने पर आनन-फानन में झूठी प्राथमिकी दर्ज करने के इस मामले में सहायक उत्पाद आयुक्त प्रेम प्रकाश ने पटना मुख्यालय को इंस्पेक्टर  मनोज कुमार राय, सब इंस्पेक्टर ओम प्रकाश, सिपाही हलेनदर कुमार व भगवान राय के विरुद्ध बर्खास्तगी के लिए मुख्यालय को पत्र लिखा था.

बताया जा रहा है कि बीते गुरुवार को दोपहर 12 बजे के लगभग डोभी के समीप शाहमीर तकया के बिट्टू कुमार नामक युवक झारखंड के हंटरगंज से पार्टी कर लौट रहा था. इसी क्रम में डोभी के समीप उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर मनोज कुमार राय, सब इंस्पेक्टर ओम प्रकाश, सिपाही हलेन्दर कुमार सहित सिपाही भगवान राय उसे शराब चेकिंग अभियान के तहत उसे पकड़ा गया. युवक के मुंह से शराब की गंध आने पर उसे उत्पाद विभाग के वाहन में बिठा लिया गया. युवक को छोड़ने के एवज में पचास हजार की मांग की गई.

बताया जा रहा है कि किसी तरह आरोपी युवक ने 19 हज़ार रुपए का इंतजाम कर लिया जिसके बाद उसे वहां से छोड़ दिया गया. वहीं, इस टीम आरोपी शराबी की हीरो होंडा बाइक बीआर-02-एसी-1720 अपने साथ लेकर चली गई. आरोप है कि इसके बाद इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने आरोपी शराबी को 31 हजार रुपए देने पर ही बाइक देने की बात कही गई. उन्होंने इसके लिए दिन भी तय कर दिया और कहा कि शुक्रवार  तक इंतजार किया जाएगा वरना शनिवार को एफआईआर दर्ज कर देंगे.

कहा जा रहा है कि इसके बाद किसी तरह युवक शुक्रवार शाम चार बजे उत्पाद कार्यालय पहुंचा. उसने  इस मामले की लिखित शिकायत सहायक उत्पाद आयुक्त प्रेम प्रकाश को की. जिसके बाद सहायक उत्पाद आयुक्त द्वारा कथित युवक से सभी की पहचान कराई गई. इसके बाद सभी से सहायक उत्पाद आयुक्त प्रेम प्रकाश द्वारा स्पष्टीकरण मांगा गया था. जांच के क्रम में मामला सत्य पाया गया और सहायक उत्पाद आयुक्त ने इन सभी पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी की अनुशंसा के लिए पत्र लिखा था. अब आज इस मामले में निलंबन की यह कार्रवाई की गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.