तेजप्रताप यादव के साथ दिखने वाले जिलाध्यक्ष को JDU ने दिखाया बाहर का रास्ता, टिकारी से ठोंक सकते हैं ताल

तेजप्रताप यादव के साथ जेडीयू नेता कमलेश शर्मा (लाल घेरे में)

तेजप्रताप यादव के साथ जेडीयू नेता कमलेश शर्मा (लाल घेरे में)

गया के जेडीयू नेता कमलेश शर्मा की तस्वीर तेजप्रताप यादव के साथ वायरल हुई थी जिसके बाद पार्टी द्वारा ये कार्रवाई की गई है. कमलेश का कहना है कि उनकी तेजप्रताप यादव से मुलाकात महज संयोग था न कि कोई पूर्व नियोजित कार्यक्रम

  • Share this:
गया. राजद नेता सह लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के साथ फोटो वायरल होने के बाद गया युवा जदयू (JDU) के जिलाध्यक्ष कमलेश शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है. इस मामले में युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सह टिकारी के विधायक अभय कुशवाहा ने न्यूज 18 से बात करते हुए कहा कि कमलेश शर्मा पर विरोधी दल के नेताओं के साथ सांठगांठ की शिकायत काफी दिनो से मिल रही थी, इस बीच उन्होंने बिहार सरकार के पूर्व स्वास्थय मंत्री और राजद नेता तेजप्रताप के साथ मुलाकात की जिसकी फोटो वायरल भी हुई.

पूरी टीम भंग

कुशवाहा ने बताया कि शर्मा के राजद के टिकट से चुनाव लड़ने के लिए प्रयासरत होने की बात कही गयी थी इसलिए उन्होंने कमलेश शर्मा को गया जिला के युवा जदयू के अध्यक्ष पद से निलंबित कर दिया और पूरी टीम को भंग कर दिया है. प्रदेश अध्यक्ष के मुताबिक कमलेश शर्मा ने टिकारी से चुनाव लड़ने के लिए जदयू में भी आवेदन दे रखा था और इस बीच उनके राजद के साथ तालमेल की खबर आयी जिसके बाद कार्रवाई करना जरूरी था.

पार्टी से निलंबन के बाद कमलेश ने अभय कुशवाहा पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप
पार्टी की तरफ से कार्रवाई से नाराज युवा जदयू के पूर्व जिलाध्यक्ष कमलेश शर्मा ने युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सह टिकारी के जदयू विधायक अभय कुशवाहा पर व्यकितगत हमला किया है. न्यूज-18 से बात करते हुए कमलेश शर्मा ने कहा कि एक साल पहले अभय कुशवाहा ने गया जिला के जदयू के मेन विंग का अध्यक्ष बनाने के नाम पर उनसे 12 लाख की राशि ली थी पर शीर्ष नेतृत्व द्वारा अलेंक्जेंडर खान को पार्टी का जिलाध्यक्ष बनाया गया. इसके बाद उन्होंने अपनी 12 लाख की राशि मांगनी शुरू की थी जिसके लिए वे बार-बार बहाना बना रहे थे और 12 लाख की राशि देने से बचने के लिए उन्होंने यह कार्रवाई की है. उन्होंने जदयू के शीर्ष नेतृत्व से प्रदेश भर में हुए युवा जदयू के जिलाध्यक्ष की नियुक्ति की जांच कराने की मांग की है और अपने समर्थकों के साथ जल्द ही दूसरी पार्टी में जाने की घोषणा की है.

तस्वीर पर दी सफाई

तेजप्रताप यादव के साथ वायरल फोटो पर सफाई देते हुए कमलेश शर्मा ने कहा कि पटना के एक मॉल में खरीददारी के दौरान तेजप्रताप से उनकी मुलाकात हुई था पर इसे पार्टी विरोधी काम नहीं कहा जा सकता है. सार्वजनिक जीवन में हरेक दल के नेता एवं कार्यकर्ता से एक-दूसरे से मिलते रहतें हैं. 12 लाख रूपया लेने के कमलेश शर्मा के आरोप के जवाब देते हुए प्रदेश अध्यक्ष अभय कुशवाहा ने कहा कि जब उन्होंने पार्टी विरोधी काम के लिए कमलेश शर्मा को निलंबित कर दिया है तो वे निराधार आरोप लगा रहें हैं.



जीतनराम मांझी के नीतीश के साथ आने से कमलेश ने राजद से साधा संपर्क

दरअसल टिकारी के वर्तमान विधायक अभय कुशवाहा के बेलांगज से चुनाव लड़ने की तैयारी के बीच कमलेश शर्मा ने टिकारी से चुनाव लड़ने को लेकर जदयू नेतृत्व को आवेदन दिया था. इस बीच जीतनराम मांझी के नीतीश के माध्यम से एनडीए में शामिल होने से हम नेता सह पूर्व मंत्री अनिल कुमार के टिकारी से चुनाव लड़ने की प्रबल संभावना हो गयी है इसलिए कमलेश शर्मा ने राजद से टिकट पाने को लेकर तेजप्रताप से मुलाकात की थी. सूत्रों की मानें तो राजद नेता द्वारा उन्हें साकारात्मक आश्वासन दिया गया है. इस बीच ऐसी चर्चा है भी है कि तेजप्रताप अपने कुछ खास लोगों टिकट दिलाने के लिए पिछले दिनों रांची में लालू यादव से मुलाकात की थी और अभी तेजस्वी यादव पर भी दवाब बना रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज