लाइव टीवी

CAA के विरोध में निकाले गए मार्च से गिरफ्तार की गई महिला नक्सली, कई मामलों में थी तलाश
Gaya News in Hindi

ALEN LILY | News18 Bihar
Updated: February 17, 2020, 4:22 PM IST
CAA के विरोध में निकाले गए मार्च से गिरफ्तार की गई महिला नक्सली, कई मामलों में थी तलाश
गया से गिरफ्तार की गई महिला नक्सली

गिरफ्तार की गई महिला नक्सली (Naxal) का नाम कलावती है जो पिछले साल सीआरपीएफ (CRPF) और नक्सलियों के बीच लटुआ थाना क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में शामिल थी.

  • Share this:
गया. बिहार के गया (Gaya) में सीएए (CAA) के खिलाफ निकाले गए प्रतिरोध मार्च से पुलिस ने एक महिला नक्सली (Naxal) को गिरफ्तार किया है. महिला नक्सली की कई मामलों में तलाश थी. दरअसल रविवार को अलग-अलग संगठनों की ओर से गया में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रतिरोध मार्च निकाला गया था.

बड़े नेताओं से है संपर्क

इस विरोध मार्च में एक महिला नक्सली भी शामिल रही जिसका सीधा संपर्क बड़े नक्सली नेताओं से रहा है. जब पुलिस को इसकी भनक लगी तो उसकी गिरफ्तारी कर ली गई. पूछताछ में उसने शीर्ष नक्सलियों से अपना संबंध स्वीकारा. खास बात यह है कि उक्त महिला पिछले साल हुई सीआरपीएफ व नक्सलियों की मुठभेड़ में शामिल थी, उस समय से वो फरार हो गई थी तबसे पुलिस उसकी तलाश में थी.

सीएए के विरोध में आयोजित था मार्च



बता दें कि सीएए के विरोध में जन अभियान बिहार के तले विभिन्न दलों द्वारा प्रतिरोध मार्च निकाला गया था. प्रतिरोध मार्च से गिरफ्तार की गई कलावती नाम की महिला का नक्सलियों के शीर्ष नेता संदीप यादव से सीधा संबंध बताया जा रहा है. उस महिला पर जिले के लटुआ थाने में 06/19 पर मामला दर्ज है और वो काफी समय से फरार चल रही थी.

मुठभेड़ में थी शामिल

जानकारी के मुताबिक कलावती पिछले साल सीआरपीएफ व नक्सलियों के बीच लटुआ थाना क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में शामिल थी. मुठभेड़ में एक नक्सली नेता भी मारा गया था तब वो वह फरार होने में कामयाब हो गई थी. सिटी एसपी राकेश कुमार ने बताया कि महिला नक्सली जिसका नाम कलावती है प्रतिरोध मार्च के आड़ में एक फ्रंटल ऑग्नाइजेशन है उसी की आड़ में लोगों को एकत्र करती है. एसपी ने बताया कि संगठन को मजबूत करने के लिए किसी प्रकार से अपने अर्बनाइजेशन को और भी मजबूत करने की कोशिश कर रहे थी और लोगों के एकत्रित करने की प्रयास कर रहे थी.

मार्च में पोस्टर्स पर लिखे थे सरकार विरोधी नारे

सीएए और केंद्र की नीतियों के प्रतिरोध में रविवार को गया रेलवे स्टेशन के सामने से जन अभियान बिहार के बैनर तले निकले 'प्रतिरोध मार्च' में ग्रामीण इलाकों से आई महिलाएं व पुरुष शामिल रही थीं. उनके हाथों में लाल झंडे व तख्तियां रहीं, जिन पर केंद्र सरकार विरोधी नारे लिखे थे. इस मार्च में जनमुक्ति संघर्ष वाहिनी, जन प्रतिरोध संघर्ष मंच, सर्वहारा जन मोर्चा, कम्युनिस्ट सेंटर ऑफ इंडिया, जनवादी लोक मंच, जनवादी मजदूर किसान संगठन समिति, सीपीआइ (एमएल), सीपीआइ एमएल (न्यू डेमोक्रेसी), सीपीआइएमएल एसआरवाइ जी, सीपीआइएम (यू) के कार्यकर्ता शामिल थे.

ये भी पढ़ें- दोस्तों संग बैठकर जाम छलका रहा था दारोगा, एसपी ने रंगे हाथों धर दबोचा

ये भी पढ़ें- बिहार के हड़ताली शिक्षकों पर कार्रवाई के मूड में सरकार, दर्ज हो सकती है FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2020, 4:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर