लोकसभा चुनाव 2019: फेसबुक-व्हाट्सएप पर प्रचार करने के लिए लेनी होगी परमिशन

अगर कोई फेसबुक या व्हाट्सएप यूजर पोस्ट करना चाहते हैं तो उन्हें नियमानुकूल परमिशन लेनी होगी. अपने हर पोस्ट की जानकारी संबंधित अधिकारी को देना होगा.

  • Share this:
सोशल मीडिया पर किसी राजनीतिक दल विशेष के पक्ष में पोस्ट करना यूजर को महंगा पड़ सकता है. चुनाव आयोग ने इसके लिए साइबर सेल का गठन किया है तथा सोशल मीडिया के हर पोस्ट पर नजर रखी जा रही है. खासकर फेसबुक तथा व्हाट्सएप पर किए जा रहे पोस्ट पर साइबर सेल नजर रखी रही है.

रोहतास जिला प्रशासन चुनाव की घोषणा होते ही इस पर सक्रिय हो गई हैं. वहीं फेसबुक और व्हाट्सएप ग्रुप की भी निगरानी की जा रही है. रोहतास के एसपी सत्यवीर सिंह बताया कि किसी पार्टी विशेष के पक्ष में प्रचार के लिए अगर कोई फेसबुक या व्हाट्सएप यूजर पोस्ट करना चाहते हैं तो उन्हें नियमानुकूल परमिशन लेनी होगी. अपने हर पोस्ट की जानकारी संबंधित अधिकारी को देना होगा.

इसको सख्ती से पालन करने के लिए जिला प्रशासन का निर्वाचन विभाग सक्रिय है. एसपी ने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से प्रोपेगेंडा फैलाने, आपत्तिजनक टिप्पणियां तथा किसी खास दलीय उम्मीदवार के प्रचार संबंधित तस्वीर-वीडियो पोस्ट करने वालों यूजर की निगरानी शुरू कर दी गई है.



गौरतलब है कि फेसबुक और व्हाट्सएप ग्रुप पर विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं द्वारा लगातार अपने पार्टी के पक्ष में तरह-तरह के पोस्ट किए जा रहे हैं. चुनाव आयोग के इस निर्देश के बाद ऐसे पोस्ट करने वाले यूजर्स मुश्किल में पड़ सकते हैं. (रिपोर्ट-अजीत कुमार)
ये भी पढ़ें: चुनाव आयोग के इस ऐप पर आप कर सकते हैं नेताओं की शिकायत, तुरंत होगी कार्रवाई

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज