होम /न्यूज /बिहार /Gaya: मगध यूनिवर्सिटी ने UGC को समय पर नहीं भेजी रिपोर्ट, वोकेशनल कोर्स के नामांकन पर लगी रोक 

Gaya: मगध यूनिवर्सिटी ने UGC को समय पर नहीं भेजी रिपोर्ट, वोकेशनल कोर्स के नामांकन पर लगी रोक 

मगध विश्वविद्यालय ने नहीं सौंपा रिपोर्ट, वोकेशनल कोर्स में नामांकन हुआ बंद 

मगध विश्वविद्यालय ने नहीं सौंपा रिपोर्ट, वोकेशनल कोर्स में नामांकन हुआ बंद 

मगथ यूनिवर्सिटी ने वोकेशनल कोर्स की मान्यता बरकरार रखने के लिए इस साल यूजीसी को रिपोर्ट नहीं भेजी. इस कारण सरकार ने यहा ...अधिक पढ़ें

    कुंदन कुमार

    गया. अगर आप बिहार के मगध विश्वविद्यालय में दाखिला लेने की सोच रहे हैं तो यह आपके लिए जरूरी खबर है. कभी राज्य के ख्याति प्राप्त विश्वविद्यालयों में शुमार मगध यूनिवर्सिटी अब बदहाली के दौर से गुजर रहा है. यहां तीन साल का डिग्री कोर्स पांच साल में भी पूरा नहीं हो रहा है लिहाजा लाखों छात्र-छात्राओं का भविष्य अधर में लटका हुआ है. मगर अब मगध विश्वविद्यालय से वोकेशनल कोर्स करने के इच्छुक छात्रों को भी निराश होना पड़ रहा है.

    दरअसल, यूनिवर्सिटी ने वोकेशनल कोर्स की मान्यता बरकरार रखने के लिए इस साल यूजीसी को रिपोर्ट नहीं भेजी. इस कारण सरकार ने यहां वोकेशनल कोर्स में एडमिशन पर रोक लगा दी है. वोकेशनल कोर्स से ग्रेजुएशन करने वाले छात्रों को इसके कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. उन्हें उच्च शिक्षा के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है. इस स्थिति में कई छात्र दूसरे राज्यों का रूख करने को मजबूर हैं.

    12 साल से कराया जा रहा था वोकेशनल कोर्स
    बता दें कि, मगध विश्वविद्यालय में ग्रेजुएशन के लिए कई विषयों में वोकेशनल कोर्स की सुविधा थी. इसके लिए 20 से 50 हजार रुपए तक फीस रखी गई थी, लेकिन इस बार विश्वविद्यालय प्रशासन ने वोकेशनल कोर्स में एडमिशन लेना बंद कर दिया है. इसके पीछे वजह यह बतायी जा रही है कि यूनिवर्सिटी इस साल वोकेशनल कोर्स कराने के लिए सरकार के मापदंडों पर खड़ा नहीं उतर पाई, इसलिए इसे वोकेशनल कोर्स में नामांकन लेने के लिए अधिकृत नहीं किया गया है.

    विश्वविद्यालय के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यूनिवर्सिटी प्रत्येक साल यूजीसी को इस संबंध में एक रिपोर्ट भेजती है. इसके बाद यूजीसी से कोर्स कराने की मान्यता मिलती है. इस बार समय पर रिपोर्ट नहीं भेजी जा सकी. इस वजह से नामांकन पर रोक लगा दी गई है. यूनिवर्सिटी की ओर से रिपोर्ट भेजने की तैयारी चल रही है जिसके बाद पूणः मान्यता मिलने की उम्मीद है. तब जाकर छात्रों का दाखिला लिया जा सकेगा.

    वोकेशनल कोर्स के इच्छुक छात्रों का भविष्य अधर में लटका
    मगध विश्वविद्यालय में वोकेशनल कोर्स में नामांकन बंद हो जाने से मगध क्षेत्र के हजारों छात्रों को इधर-उधर भटकना पड़ रहा है. कई छात्र इस कारण अन्य राज्यों का भी रुख कर रहे हैं. ऐसे में जो पढ़ाई यहां 50 हजार रुपये तक में हो जाती थी, इसके लिए उन्हें दो से तीन लाख रुपये खर्च करने पड़ रहे हैं. इस स्थिति में आर्थिक तंगी से जूझ रहे कई परिवारों के बच्चों का सपना अधर में अटक गया है. हालांकि विश्वविद्यालय में वोकेशनल कोर्स में पीजी के लिए नामांकन जारी है.

    Tags: Bihar education, Bihar News in hindi, Gaya news, Ugc

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें