अपना शहर चुनें

States

Lockdown के साइड इफेक्ट! आधी रह गई दुग्ध उत्पादों की खपत! हर दिन पांच लाख लीटर कम बिक रहे दूध

बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार की फाइल फोटो
बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार की फाइल फोटो

समीक्षा बैठक में दूध के कलेक्शन एवं बिक्री के साथ ही पैकेजिंग मैटेरियल, डेयरी से जुड़े दुग्ध उत्पाद, गौपालकों के पैसे का भुगतान एवं पशुओं के लिए चारे की उपलब्धता पर चर्चा की गयी. इसमें मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने किसानों के ससमय भुगतान की व्यवस्था के लिए तमाम उपाय किए जाने का निर्देश दिया है.

  • Share this:
गया. कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे और लॉकडाउन के कारण पशुपालन एवं डेयरी उद्योग (Animal Husbandry and Dairy Industry) पर पड़ा है. राज्य में दूध की खपत में लगभग 50 प्रतिशत तक की कमी आ गई है. इस वजह से प्रदेश में किसानों को भुगतान करने में दिक्कत आ रही है. इसकी गंभीरता को देखते हुए बुधवार को बिहार सरकार के कृषि पशुपालन एवं मत्स्य मंत्री डॉ प्रेम कुमार (Dr. Prem Kumar) ने गया से ही विभागीय सचिव डॉ एन सरवन, काम्फेड की प्रबंध निदेशक शिखा श्रीवास्तव और राज्य के सभी 9 सहकारी दुग्ध उत्पादक सहयोग समिति के प्रबंध निदेशक के साथ विडियो कान्फ्रेसिंग के जरिये समीक्षा की.

मंत्री ने दिए निर्देश
इस समीक्षा बैठक में दूध के कलेक्शन एवं बिक्री के साथ ही पैकेजिंग मैटेरियल, डेयरी से जुड़े दुग्ध उत्पाद, गौपालकों के पैसे का भुगतान एवं पशुओं के लिए चारे की उपलब्धता पर चर्चा की गयी. इसमें मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने किसानों के ससमय भुगतान की व्यवस्था के लिए तमाम उपाय किए जाने का निर्देश दिया है.

कलेक्शन बढ़ी, खपत घटी
बता दें कि बिहार के 9 सहकारी दुग्ध उत्पादक सहयोग समिति द्वारा 24 मार्च 2020 से पहले 19 लाख 16 हजार लीटर दुध का कलेक्शन किया जा रहा था पर कोरोना को लेकर जारी लॉडाउन के बाद दूध का कलेक्शन 15 हजार लीटर बढ़कर 19 लाख 31 हजार लीटर हो गया है.



यह बढ़ोतरी गांव की मिठाई एलं चाय दुकानों के बंद होने से बढ़ी है.कलेक्शन ज्यादा होने से जहां डेयरी से जुड़े अधिकारी उत्साहित हैं, वहीं दूध की बिक्री में हुई रिकार्ड गिरावट से डेयरी के अधिकारियों से लेकर सरकार के मंत्री भी चितिंत हैं.

आधी रह गई दूध की खपत
इस संबंध में न्यूज 18 से बात करते हुए कृषि एवं पशुपालन मंत्री ने कहा कि अभी पूरे राज्य में दुग्ध उत्पादन सहयोग समिति से करीब 12.5 लाख गौपालक जुड़े हुए हैं और अभी 19 लाख 31 हजार दुग्ध का संग्रहण हो रहा है. इसमें से आधा से भी कम करीब 9 लाख लीटर दूध की प्रोसेसिंग होकर बिक्री के लिए जा रही है, जबकि शेष करीब 10 लाख लीटर दूध से दुग्ध उत्पाद के विभिन्न उत्पाद और दुग्ध पाउडर बनाया जा रहा है.

दूध से दही, पनीर, आइसक्रीम, मिठाई, घी समेत 23 तरह के उत्पाद का निर्माण पहले से होता रहा है लॉकडाउन में दुध के साथ ही इन उत्पादों की भी बिक्री घटी है.इसलिए शेष दूध का पाउडर बड़ी मात्रा में बनाया जा रहा है.

बूस्ट अप करने के किए जा रहे उपाय
उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के शुरुआत में दुध की बिक्री में 50 फीसदी की गिरावट आ गयी थी. इसको लेकर उन्होंने राज्य के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित क्राइसिंस मैनेजमेंट कमिटी से पत्राचार किया था जिसके बाद दूध की बिक्री के समय सीमा को बढाया गया है. इसके बाद दूध की बिक्री शुरू के 50 फीसदी से बढकर 60 फीसदी हुई है.

समीक्षा के दौरान उन्होंने दूध के होम डिलीवरी की सुविधा को बढाने और दुग्ध से बने उत्पाद की बिक्री को प्रोत्साहित करने के लिए कई निर्देश दिये हैं. इसके साथ ही डेयरी से जुड़े गौपाल कों का हरेक 10 दिन में भुगतान करने का निर्देश दिया गया है ताकि लॉकडाउन में गौपालकों को आर्थिक परेशानी ने झेलनी पड़े.

ससमय भुगतान के किए जा रहे प्रयास
इसके साथ ही प्रेम कुमार ने कहा कि लॉकडाउन नें पैसे के भुगतान को लेकर डेयरी को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ सकता है. इसके लिए सरकार एनसीडीसी एवं राज्य योजना से डेयरी के माध्यम से किसानों को मदद करने के लिये 320 करोड़ रुपये की व्यवस्था करने के प्रस्ताव पर कार्य कर रही है. पूर्व में सूखा एवं बाढ़ के समय में दी गई कैटल फीड सब्सिडी को भी लागू करने का प्रयास किया जा रहा है.

बंद पड़ गई हैं सारी गतिविधियां
दअरसल लॉकडाउन में सभी होटल, रेस्टोरेंट बंद हैं, जहां दूध की अच्छी खपत प्रतिदिन होती है. शादी-विवाह समारोह के साथ ही अन्य तरह की सामूहिक समारोह पर भी रोक है. इस तरह के फंक्शन में दूध एवं दूध से बने उत्पादों की अच्छा खपत होती है. बहरहाल लॉकडाउन में 20 अप्रैल के बाद राज्य के कई इलाकों में कुछ छुट मिलने की संभावना है. इसी संभावना को लेकर डेयरी से जुड़े अधिकारियों को दूध और दूध से बने उत्पादों को बिक्री के बढने की उम्मीद बनाये हुए है.

ये भी पढ़ें


कृषि कार्यों पर कोई रोक नहीं, पैक्स शुरू करें गेहूं की खरीद और शुरू हो बाढ़ रोकथाम का काम-नीतीश कुमार




COVID-19 Update: बिहार में 2 और पॉजिटिव केस, अब मरीजों की संख्या हुई 72

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज