गया में बोले नीतीश- हम गारंटी देते हैं हमारे रहते अल्पसंख्यक समाज की उपेक्षा नहीं होगी

बिहार के सीएम नीतीश कुमार गया में जनसभा को संबोधित कर रहे थे (फाइल फोटो)

सीएम ने कहा कि राज पाठ करने का मौका सबको मिला लेकिन यह सब जानते हैं कि उन लोगों ने अल्पसंख्यकों के लिए क्या काम किया है.

  • Share this:
    गया. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि मेरे रहते अल्पसंख्यक समाज की उपेक्षा नहीं होगी इसकी मैं गारंटी लेता हूं. गया में आयोजित जनजीवन हरियाली कार्यक्रम के तहत बोलते हुए नीतीश कुमार ने नागरिकता संशोधन कानून का जिक्र किया और इसके विरोध का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कौन किस को भड़काता है हम ध्यान नहीं देते.

    सीएम ने कहा कि राज पाठ करने का मौका सबको मिला लेकिन यह सब जानते हैं कि उन लोगों ने अल्पसंख्यकों के लिए क्या काम किया है. नीतीश ने साफ शब्दों में कहा कि मैं इस बात की गारंटी लेता हूं कि अल्पसंख्यकों की उपेक्षा नहीं होगी. हमारे रहते कुछ भी गलत नहीं होगा. सीएम ने कहा कि कुछ लोग अनाप-शनाप प्रतिक्रिया दे रहे हैं, वह भी बिना समझे बुझे. कुछ लोग यह भी चाहते हैं कि गड़बड़ हो जाए लेकिन हम अपने स्टैंड पर कायम हैं. हमारे रहते कुछ नहीं होगा.

    गया में ओटीए के बंद होने का जिक्र करते हुए सीएम ने कहा कि पहले यहां आर्मी का सर्विस कॉप्स चलता था तब उसे बंद करने की बात हुई थी. हमने सरकार को पत्र लिखा तो यहां ओटीए खोलने की बात हुई अब पता चला है कि उसे बंद किया जा रहा है तो हमने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखा है. नीतीश कुमार ने कहा कि हम रक्षा मंत्री से इसको लेकर बात भी करेंगे. गुरुवार को सीएम ने गया के गांधी मैदान में जनसभा को संबोधित करने के दौरान विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास किया. मौके पर बिहार सरकार की कैबिनेट के कई मंत्री भी मौजूद थे