बिहार: दो लोगों को पीटकर मार डालना चाहते थे लोग, पुलिस ने बहादुरी दिखाकर बचाई जान

बिहार के गया में चोरी के आरोप में दो लोगों को मार डालना चाहते थे लोग, पुलिस ने बचाई जान.

एसएसपी राजीव मिश्रा (SSP Rajiv Mishra) ने अतरी थानाध्यक्ष और नीमचक बथानी डीएसपी को मारपीट एवं पथराव करने वाले आरोपी की पहचान कर केस दर्ज कर कार्रवाई का निर्देश दिया है.

  • Share this:
गया. पुलिस की सक्रियता की वजह से दो लोगों की मॉब लीचिंग (Mob lynching) होने से बच गयी पर आकोशित लोगों के पथराव में एक एएसआई घायल हो गए. घटना जिले के अतरी थाना के जीरी गांव की है जहां बीती रात चोरी को घटना हुई थी और सुबह में उधर से जा रहे दो गुलगुलबा घुमन्तुओं को ग्रामीणों ने पकड़ लिया और चोरी का झूठा इलजाम लगाकर पिटाई करने लगे. इस बीच मामले की सूचना पर पहुंची अतरी थाना की पुलिस ने ग्रामीणों के बीच बंधक (hostage) बने दोनों गुलगुलबा घुमन्तुओं को अपने साथ ले जाने लगी. लेकिन, कुछ स्थानीय लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया. कई घंटों तक लोगों ने पुलिस गाड़ी को भी बंथक बनाकर रखा. इस दौरान पुलिस के अधिकारी लोगों को समझाते रहे पर ये लोग दोनों गुलगुलबा घुमन्तुओं को पीटकर मार डालना चाहते थे.

हालांकि इस विरोध के बीच भी पुलिस वहां से अपनी गाड़ी लेकर निकल पड़ी जिसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस गाड़ी पर ही पथराव कर दिया. इस पथराव में एक एएसआई को चोट लगी है. बाद में पुलिस ने बंधन बने दोनों गुलगुलबा घुमन्तुओं को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती करवाया है.

इस मामले पर एसएसपी राजीव मिश्रा ने अतरी थानाध्यक्ष और नीमचक बथानी डीएसपी को मारपीट एवं पथराव करने वाले आरोपी की पहचान कर केस दर्ज कर कार्रवाई का निर्देश दिया है.