लाइव टीवी

दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम पर आत्ममंथन करे भाजपा: इंद्रेश कुमार
Gaya News in Hindi

News18 Bihar
Updated: February 12, 2020, 7:38 AM IST
दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम पर आत्ममंथन करे भाजपा: इंद्रेश कुमार
गया में मीडिया से बात करते हुए आरएसएस विचारक इंद्रेश कुमार.

RSS के नेता और विचारक इंद्रेश कुमार ने कहा कि दिल्ली चुनाव परिणाम के बाद बिना किसी शर्त के AAP को बधाई देनी चाहिए और BJP को इस रिजल्ट के बाद आत्ममंथन करने की जरूरत है.

  • Share this:
गया. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) में हार के साथ ही बीजेपी ने एक के बाद एक छह राज्यों में अपनी सरकार गंवा दी है. अब इसको लेकर जहां पार्टी के भीतर मंथन शुरू हो चुका है, वहीं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) ने भी बीजेपी BJP को आत्ममंथन की सलाह दी है. आरएसएस के नेता और विचारक इंद्रेश कुमार (Indresh kumar) ने कहा कि दिल्ली चुनाव परिणाम के बाद बिना किसी शर्त के AAP को बधाई देनी चाहिए और भाजपा को इस रिजल्ट के बाद आत्ममंथन करने की जरूरत है.

गया में राष्ट्र के सर्वांगीण विकास में धर्म की भूमिका विषय पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठि को संबोधित करने के बाद मीडिया से बात करते हुए आरएसएस नेता ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भाजपा जैसी पार्टी आत्ममंथन कर आगे बढने का प्रयास करेगी. वहीं, उन्होंने सलाह दी कि चुनावों में मिली हार और जीत को युद्धभूमि के बजाय खेल के मैदान की तरह सभी पार्टी को एक दूसरे के प्रति व्यवहार करना चाहिए.

CAA विरोध पर दी यह प्रतिक्रिया
सीएए से संबंधित सवाल का जवाब देते हुए इंद्रेश कुमार ने कहा कि इस कानून का विरोध और समर्थन के बीच कुछ अद्भुत चीजें देखने को मिल रही हैं. समर्थन करनेवालों की तरह ही विरोध करने वाले भी हाथ में तिरंगा लेकर निकल रहे हैं और भारत माता की जय, जन-गण-मन और वंदे मातरम् के नारे लगा रहे हैं. दोनों तरफ के लोग संविधान को मानने की बात कह रहे हैं, जबकि विरोध करने वाले के हाथ में दूसरे तरह का झंडा होता था.

गया में राष्ट्र के सर्वांगीण विकास में धर्म की भूमिका विषय पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठि को संबोधित करते हुए आरएसएस नेता इंद्रेश कमार.


सीएए का समर्थन करते हुए आरएसएस नेता ने कहा कि अखंड भारत के हिस्सा रहे पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बंग्लादेश के अल्पसंख्यकों को भारत में पहले भी नागरिकता दी गई है, पर राजनीतिक और धार्मिक विवाद पहली बार कुछ संगठनों और विपक्षी दलों द्वारा किया जा रहा है.

आरएसएस विचारक ने राष्ट्र के सर्वांगीण विकास में धर्म की भूमिका विषय पर आयोजित नागरिक संगोष्ठि को संबोधित किया, जिसमें आरएसएस के साथ ही भाजपा और दूसरे संगठन के सैकड़ों लोग शामिल हुए. इस संगोष्ठी में धर्म, संप्रदाय और पूजा पद्धति पर विशेष रूप से चर्चा की गई. संगोष्ठि में भारतवर्ष के प्राचीन इतिहास और उसके विस्तृत साम्राज्य से लेकर अभी तक के राजनीतिक और धार्मिक परंपराओं पर विशेष रूप से चर्चा की गई.ये भी पढ़ें

बिहार: प्राइमरी शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया स्थगित, जानें वजह

'दो हजार बीस, नीतीश कुमार फिनिश', RJD नेता ने जारी किया पोस्टर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 7:15 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर