10 साल से गया में रह रहा था संदिग्ध आतंकी, गिरफ्तारी के बाद इलाके में सनसनी

कोलकाता से आई स्पेशल टास्क फोर्स ने बिहार के गया से जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के एक संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है.

News18 Jharkhand
Updated: August 26, 2019, 10:03 PM IST
10 साल से गया में रह रहा था संदिग्ध आतंकी, गिरफ्तारी के बाद इलाके में सनसनी
आतंकी की गिरफ्तारी के बाद गया के बुनियादगंज थाना क्षेत्र के पठान टोली में सनसनी
News18 Jharkhand
Updated: August 26, 2019, 10:03 PM IST
बिहार (Bihar) का गया (Gaya) एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है. उसकी वजह यह है कि गया अब आतंकियों (Terrorist) और उसके स्लीपर सेल का गढ़ होता जा रहा है. गया के अलग-अलग क्षेत्रों के अल्पसंख्यक मुहल्ले में रहकर आतंकी संगठन को चलाने का काम किया जा रहा है. वहीं, अभी तक कई आतंकी संगठनों के कई आतंकियों को देश के दूसरे राज्यों की पुलिस और एटीएस की टीम ने गया से गिरफ्तार किया है. सोमवार को जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (Jamaat-ul-Mujahideen/जेएमबी) के आतंकी की गिरफ्तारी के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है.

गया से गिरफ्तार JMB आतंकी को ट्रांजिट रिमांड पर भेजा गया पश्चिम बंगाल
ताजा मामला गया के बुनियादगंज थाना क्षेत्र के पठान टोली का है जहां सोमवार को गुप्त सूचना पर पश्चिम बंगाल  के कोलकाता से आई स्पेशल टास्क फोर्स ने जेएमबी के आतंकी को गिरफ्तार किया है. इस दौरान कई आपत्तिजनक सामग्री और 4 मोबाइल फोन बरामद हुए. गिरफ्तारी के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. वहीं, गिरफ्तारी के बाद कोलकाता एसटीएफ ने गया सिविल कोर्ट के एसीजेम-11 की कोर्ट में उसे पेश कर ट्रांजिट रिमांड की डिमांड की. कोर्ट ने सारी कागजात की जांच के बाद एजाज अहमद को पश्चिम बंगाल की टीम के हवाले कर दिया गया. इस मामले में गया पुलिस कैमरे पर कुछ भी नहीं बोल रही है.

स्थानीय लोगों का दावा, कपड़े का फेरी का काम करता था आतंकी

जब गिरफ्तार आतंकी के घर पर मीडिया की टीम पहुंची और उस इलाके के लोगों से बात करने की कोशिश की, तो वहां पर लोगों ने कहा कि उसके बारे में हम लोगों को कोई जानकारी नहीं है. स्थानीय लोगों ने बताया कि वो कभी यहां के लोगों से बातचीत नहीं करता था. वह कपड़े का फेरी का काम करता था. कब जाता था या कब आता था, यह किसी को जानकारी नहीं है.

बंगाल के पुरुलिया से गया आया था आतंकी
गिरफ्तार आतंकी की पत्नी ने बताया, 'हम लोग बंगाल के पुरुलिया के रहनेवाले हैं और हमलोगों के शादी के 10 साल हो गए. हमलोग गया में विगत दो वर्षों से रह रहे हैं. जब हम गया आए थे तो हमलोग चाकंद में रहे थे, उसके बाद हमलोग करीमगंज में और फिर अबगिला में रहे फिर 2 महीना पहले मानपुर के पठान टोली में रह रहे हैं. मेरा पति कपड़े का फेरी करते हैं.' आतंकी की पत्नी ने कहा कि उसके तीन बच्चे हैं. हालांकि वह पति के किसी संगठन से जुड़े होने पर कुछ नहीं बोली.
Loading...

पहले भी गया से आतंकी होते रहे हैं गिरफ्तार
गौरतलब है कि 2013 में हुए बोधगया के महाबोधि मंदिर बम धमाके मामले में बंग्लादेशी संगठन की संलिप्त्ता सामने आई थी. इससे पहले गुजरात में बम धमाके के आरोपी तौसीफ की गिरफ्तारी गया से हो चुकी है और वह गुजरात के जेल में बंद है. तौसीफ कई साल से शिक्षक बनकर छुपकर रह रहा था और साईबर कैफे के संचालक की सूचना पर पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

(रिपोर्ट- एलन लिली)

ये भी पढ़ें-

कोलकाता STF ने गया से गिरफ्तार किया जमात-उल-मुजाहिदीन का आतंकी

जेल में मच्छर से परेशान रहे अनंत सिंह, मिले दो खास साथी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 10:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...