गया: मारपीट कर रहे युवकों को समझाने की कोशिश कर रहे SSB जवान के भाई की गोली मारकर हत्‍या

पुलिस ने शव को कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है.  
पुलिस ने शव को कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है.  

जैतीया गांव और गुलनी गांव के युवकों के साथ पूर्व में क्रिकेट (Cricket) खेलने के दौरान मारपीट हुई थी, जिसके बाद, जैतीय गांव से आए अपराधी प्रवृति के युवक वारदात को अंजाम दिया.

  • Share this:
गया. मगध मेडिकल थाना क्षेत्र के गुल्ली गांव में एसएसबी जवान के भाई की गोली मारकर अपराधियों ने हत्या (Murder) कर दी. मृतक युवक का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने दो गांवों के युवकों के बीच क्रिकेट मैच को लेकर हो रही मारपीट को रोकने की कोशिश की थी. वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए. वहीं वारदात का शिकार हुए इस युवक की अस्‍पताल पहुंचने से पहले ही मृत्‍यु हो गई. पुलिस ने मृतक की पहचान दीपक कुमार के रूप में की है. पुलिस ने मृतक के शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजकर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

प्रत्यक्षदर्शियों संतोष कुमार और मृतक के भाई ने बताया कि कुछ दिन पहले जैतीया गांव और गुलनी गांव के युवकों के बीच क्रिकेट खेलने को लेकर विवाद हुआ था. इस विवाद के बाद, जैतीय गांव के कुछ अपराधी प्रवृत्ति के युवक गुलनी गांव पहुंचे थे. गांव में दाखिल होते ही दोनों पक्षों के बीच कहासुनी शुरू हो गई. कुछ ही पलों, में यह कहासुनी मारपीट में बदल गई. इस दौरान, इलाके में अपनी दहशत फैलाने के लिए अपराधियों ने दो से तीन राउंड फायरिंग भी की थी. वहीं, बाहरी गांव के युवकों द्वारा मारपीट की जानकारी मिलते ही गांव के कई लोग मौके पर पहुंच गए. इन्‍हीं लोगों में दीपक भी एक था.

प्रत्‍यक्षदर्शियों के अनुसार, गुलनी गांव के युवक दीपक कुमार ने मारपीट कर रहे युवकों को समझाने का प्रयास किया. यह बात मारपीट कर रहे लोगों को नगवार गुजरी. अपराधी प्रवृत्ति के लोगों ने समझाने आए युवक दीपक कुमार को ही सीने में गोली मार दी. गोली लगते ही दीपक निठाल होकर मौके पर गिर पड़ा. वहीं, मौके पर पहुंचे ग्रामीण दीपक को लेकर अस्‍पताल की तरफ भागे. दीपक अस्‍पताल पहुंचता, इससे पहले बहुत देर हो चुकी थी. दीपक ने रास्‍ते में ही दम तोड़ दिया था.



परिजनों का आरोप है कि जैतीय गांव के गुड्डू सिंह सहित सात से आठ की संख्या में थे. अपराधी प्रवृत्ति के ये युवक 4 बाइक से गुलनी गांव पहुचे थे. गोली मारने के बाद अपराधी बाइक छोड़कर वहां से फरार हो गए. उल्‍लेखनीय है कि मृतक दीपक कुमार गुलनी गांव में ही कपड़े का दुकान चलाता था.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज