लाइव टीवी

सरकार की वादाखिलाफी तो युवाओं ने दशरथ मांझी से ली प्रेरणा, कर दिया ये बड़ा कारनामा

News18 Bihar
Updated: November 9, 2019, 2:35 PM IST
सरकार की वादाखिलाफी तो युवाओं ने दशरथ मांझी से ली प्रेरणा, कर दिया ये बड़ा कारनामा
गया के युवाओं ने पर्वत पुरुष दशरथ मांझी से प्रेरणा लेकर खेल का मैदान तैयार कर दिया.

बिहार के पहले सिक्स लेन पुल के शिलान्यास समारोह में सीएम नीतीश कुमार ने मानपुर स्थित भूसुंडा पशु मैदान में इस पशु मैदान को स्टेडियम बनाने की घोषणा की थी.

  • Share this:
गया. जब तक तोड़ूंगा नहीं, तब तक छोड़ूंगा नहीं... यही वो इरादा था जो हाथ में हथौड़ा-छेनी और सीने में फौलाद लिए  22 साल की इंसानी मेहनत के आगे पत्‍थर भी पिघलकर रास्ता देने पर मजबूर हो गया. पहाड़ों का सीना चीरकर रास्ता बना देने का ये कारनामा कर दिखाया था बिहार (Bihar) के दशरथ मांझी (Dashrath Manjhi) ने. उनकी जिंदगी साहस और प्रेरणाओं से भरी पड़ी है. इंसानी जज्‍बे, जुनून और कुछ कर जाने की जिद की मिसाल पर्वत पुरुष (Mountain man) दशरथ मांझी से प्रेरित होकर मानपुर (Manpur) के युवाओं ने एक ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है जिसकी हर ओर तारीफ हो रही है.

दरअसल सरकार की वादाखिलाफी से निराश मानपुर के स्थानीय युवाओं ने पर्वत पुरुष बाबा दशरथ मांझी को याद किया और उनकी प्रेरणा से युवाओं की टीम बनाई. स्थानीय समाजिक कार्यकर्ताओं के सहयोग से श्रमदान करते हुए खुद ही प्लेग्राउंड भी तैयार कर लिया है. उनका यह प्रयास लगातार चल रहा है और इसे दिनों दिन और ज्यादा व्यवस्थित किया जा रहा है.

गया के मानपुर में सरकार की वादाखिलाफी से निराश युवाओं ने हार नहीं मानी और कचरा डंपिंग यार्ड बनते जा रहे खाली स्थान को खेल का मैदान बना लिया.


गौरतलब है कि बिहार के पहले सिक्स लेन पुल के शिलान्यास समारोह में सीएम नीतीश कुमार ने मानपुर स्थित भूसुंडा पशु मैदान में इस पशु मैदान को स्टेडियम बनाने की घोषणा की थी. इस समारोह में तत्कालीन बिहार के एनडीए सरकार के कई मंत्री और विधायक भी मौजूद थे. लेकिन, सीएम की घोषणा पर आज तक काम शुरू नहीं हो पाया.

स्थानीय युवक अशोक सम्राट ने बताया कि सीएम नीतीश कुमार की घोषणा के बावजूद यहां की जमीन पर भूमाफिया कब्जा किए जा रहे थे. इसके साथ ही नगर निगम इसे कटरा का डंपिंग यार्ड बना रहा है. इसका विरोध करते हुए स्थानीय युवाओं में मगध मित्र मंडली नामक सामाजिक संगठन बनाया और फिर सामाजिक सहयोग एवं श्रमदान के जरिए कचरे के डंप का खेल के मैदान में तब्दील कर दिया है.

गौरतलब है कि गया शहर में युवाओं के खेलने एवं आम लोगों के लिए गांधी मैदान समेत कई ग्राउंड हैं पर फल्गु के दूसरे किनारे मानपुर में कोई खेल का मैदान नहीं है. मानपुर मोहल्ला/बस्ती गया नगर निगम के अंदर शहरी क्षेत्र माना जाता है. इसलिए यहां के युवा हर हाल में खेल का मैदान चाहते हैं और इसके लिए वे कई स्तरों पर प्रयास कर रहे हैं.

युवाओं के बनाए मगध मित्र मंडली संगठन को शहर के सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ प्रशासनिक स्तर भी प्रोत्साहन दिया गया.

Loading...

मगध मित्र मंडली के सचिव रंजीत कुमार ने बताया कि जब उनलोगों ने खुद से खेल के मैदान बनाने का निर्णय लिया तो उन्हें कई स्तर पर भूमाफिया और दूसरे लोगों का विरोध झेलना पड़ा. लेकिन, कई पूर्व खिलाड़ी और पुलिस के पदाधिकारियों का उन्हें समर्थन मिला जिसकी वजह से यहां ग्राउंड तैयार हो पाया है.

बता दें कि इस ग्राउंड पर अभी बाबा दशरथ मांझी खेल उत्सव का आयोजन किया जा रहा है. इसमें क्रिकेट,फुटबॉल, बॉलीवॉल, कबड्डी एवं एथलेटिक्स का आयोजन किया जा रहा है. इसमें शहर के साथ ही ग्रामीण प्रतिभा को मौका दिया जा रहा है.

गया के मानपुर स्थित पशु मैदान को स्टेडियम बनाने की घोषणा की गई थी, लेकिन सरकार ने अब तक वादा नहीं निभाया है.


मगध मित्र मंडली के इस प्रयास से स्थानीय युवा काफी उत्साहित हैं. यहां हर रोज प्रैक्टिस करने आने वाले युवा शमशाद आलम ने बताया कि वे स्पोर्ट्स में अपना कैरियर बनाना चाहतें हैं और इसके लिए वे मैदान के निर्माण के लिए अपने सीनियर को धन्यवाद देते हैं.

मगध मित्र मंडली से जुड़े सौरव कुमार ने बताया कि उन लोगों को उम्मीद है कि यहां के अधिकारी और जनप्रतिनिधि सूबे के मुखिया नीतीश कुमार की घोषणा को अमलीजामा पहनाने के लिए ठोस पहल जरूर करेगें पर इस बीच में युवाओं की टोली का प्रयास भी जारी रहेगा. वे अपने खेल के मैदान को बेहतर करने कि लिए लगातार मेहनत करते रहेंगे.

रिपोर्ट- अरुण चौरसिया

ये भी पढ़ें-


Ayodhya Verdict: SC का जो भी फैसला है उसका हर हाल में सम्मान होना चाहिए- नीतीश कुमार




30 साल पहले बिहार के इस दलित ने रखी थी अयोध्या में राम जन्मभूमि शिलान्यास की पहली ईंट, बोले-आज का दिन ऐतिहासिक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 2:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...