ट्रेन से चोरी हुआ था BSF के लिए जा रहा 14 लाख का सामान, RPF ने किया बरामद
Gaya News in Hindi

ट्रेन से चोरी हुआ था BSF के लिए जा रहा 14 लाख का सामान, RPF ने किया बरामद
बरामद सामान के साथ रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारी.

आनंद विहार-सियालदह एक्सप्रेस (Anand Vihar-Sealdah Express) के पार्सल बोगी चोरी हुई थी. सामान सीमा सुरक्षा बल (BSF) के लिए जा रहा था. पांच अपराधी गिरफ्तार (Arrest) हो चुके हैं लेकिन सरगना सहित मामले से जुड़े आधा दर्जन अभी भी फरार हैं. 27 दिन पूर्व गया (Gaya) और औरंगाबाद (Aurangabad) के बीच चोरी हुई थी.

  • Share this:
गया. दिल्ली से हावड़ा जा रहे सीमा सुरक्षा बल (BSF) के लाखों के चोरी हुए सामान को रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने बरामद कर लिया है. आरपीएफ की टीम ने आनंद बिहार-सियालदह एक्सप्रेस (Anand Vihar-Sealdah Express) ट्रेन से चोरी किए गए लगभग साढ़े 14 लाख के मॉनिटर, स्कैनर, प्रिंटर और एलईडी टीवी को बरामद किया है. साथ ही इस मामले में 5 लोगों की गिरफ्तारी भी की गई है लेकिन सरगना सहित अन्य अपराधी अभी भी पुलिस की पहुंच से बाहर हैं. इस मामले को लेकर आरपीएफ के सीनियर कमांडेंट आशीष मिश्रा (मुगलसराय) ने गया जंक्शन पर शनिवार को एक प्रेसवार्ता कर मीडिया को जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि पिछले 30 सितंबर को दिल्ली के आनंद विहार से सियालदह जाने वाली ट्रेन से एक दर्जन चोरों द्वारा गया जंक्शन और औरंगाबाद स्टेशन के बीच सामान की चोरी की गई थी. जिसकी कीमत 17 लाख थी. चोरी के सामान इलेक्ट्रॉनिक आइटम थे. सामान की सप्लाई बीएसएफ को होनी थी. इसी बीच गया रेलवे स्टेशन के पास सामान की चोरी कर ली गई.

आरपीएफ और सीआईडी की टीम भी कर रही थी जांच
चोरी की घटना के बाद मुगलसराय, दानापुर, धनबाद सहित कोलकाता की आरपीएफ और सीआईडी टीम को जांच में लगाया गया. टीम के द्वारा गया सहित कई जगहों पर छापेमारी की गई. टीम के सदस्यों ने ग्राहक बनकर औरंगाबाद में उक्त सामान की खरीदारी के लिए चोरों से संपर्क साधा. जिसके बाद चोर इलेक्ट्रॉनिक सामान लेकर औरंगाबाद के एक निजी होटल में पहुंचे. जहां पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में कुल पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. जिनमें से दो गया और तीन औरंगाबाद के रहने वाले हैं. गिरोह का मुख्य सरगना और आधा दर्जन लोग अभी भी फरार हैं, जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है.
अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी जारी


उन्होंने कहा कि ये सभी अंतरराज्यीय गिरोह के सदस्य हैं. बरामद सामानों में 43 मॉनिटर, 11 स्कैनर सहित कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण शामिल हैं, जिनका मूल्य साढ़े 14 लाख रुपए बताया जा रहा है. गिरोह के सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. उन्होंने कहा कि इस मामले में बिहार, झारखंड, यूपी और बंगाल की टीम के द्वारा संयुक्त रूप से ऑपरेशन चलाए जाने के बाद सफलता मिली है.

ये भी पढ़ें-

SSP का FB पर बनाया फर्जी अकाउंट, शेयर कर दी IPS पत्नी के साथ की तस्वीरें

चचेरी भाभी से था युवक का अवैध संबंध, कुएं में शव मिलने से इलाके में मची सनसनी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading