लाइव टीवी

राज्यों के चुनाव पीएम मोदी के चेहरे पर नहीं, स्थानीय मुद्दों पर लड़े भाजपा-रामदास अठावले
Gaya News in Hindi

Arun Chaurasia | News18 Bihar
Updated: February 12, 2020, 2:17 PM IST
राज्यों के चुनाव पीएम मोदी के चेहरे पर नहीं, स्थानीय मुद्दों पर लड़े भाजपा-रामदास अठावले
गया में पत्रकारों से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले.

रामदास अठावले ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राहुल गांधी के रहते कांग्रेस को राष्ट्रव्यापी समर्थन मिलने वाली नहीं है, इसलिए 2024 के चुनाव में भी पीएम मोदी के नेतृत्व में केन्द्र में एनडीए की सरकार बनेगी. हालांकि राज्यों के चुनाव में की रणनीति में बदलाव करने पर भाजपा को विचार करने की जरूरत है.

  • Share this:
गया. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) में बीजेपी को मिली करारी हार के बाद एनडीए में बेचैनी देखी जा रही है. अब तो केंद्र सरकार में शामिल छोटी-छोटी सहयोगी पार्टियां भी बीजेपी (BJP)को नसीहत दे रही हैं कि आने वाले समय में वह कैसी राजनीति करे. ताजा बयान केंद्र सरकार में मंत्री व रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के प्रमुख रामदास आठवले (Ramdas Athwale) का आया है जिसमें उन्होंने नसीहत भरे लहजे में कहा कि बीजेपी को अब पीएम मोदी (PM Modi) के चेहरे पर नहीं बल्कि राज्यों में स्थानीय मुद्दे के आधार पर चुनाव लड़ना चाहिए.

बोधगया स्थित महाबोधी मंदिर का भ्रमण और गया परसदिन में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के बाद केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राहुल गांधी के रहते कांग्रेस को राष्ट्रव्यापी समर्थन मिलने वाली नहीं है, इसलिए 2024 के चुनाव में भी पीएम मोदी के नेतृत्व में केन्द्र में एनडीए की सरकार बनेगी. हालांकि राज्यों के चुनाव में की रणनीति में बदलाव करने पर भाजपा को विचार करने की जरूरत है.

आठवले ने कहा कि देश के लोग केन्द्र में मोदी को चाहते हैं पर राज्यों में उनकी समस्या का समाधान करनेवाली सरकार भी चाहते हैं. इसलिए भाजपा को राज्यों के चुनाव में पीएम मोदी के बजाय स्थानीय मुद्दे और नेता को आगे करके लड़ना चाहिए.

उन्हौने दिल्ली के साथ ही झारखंड, मध्य प्रदेश छत्तसीगढ एवं राजस्थान जैसे राज्यों के चुनाव परिणाम की चर्चा की. उन्होंने यह भी कहा कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में उनकी रिपब्लिकन पार्टी ऑफि इंडिया भी एनडीए के साथ या अकेले चुनाव लड़ सकती है.

इसके साथ ही रामदास अठावले ने प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से असहमति जताते हुए कहा कि इसके लिए वे केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने वाले हैं. उन्होंने कहा कि पासवान सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को निरस्त करने के लिए 2 मार्च से शुरू हुए रहे संसद के सत्र में बिल लाने की मांग करेंगे.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आरक्षण की व्यवस्था को संविधान के नौंवी अनुसुची में जोड़ने की जरूरत है ताकि सरकार और संसद से आरक्षण को लेकर बनाये जा रहे प्रावधन को कोर्ट में बार-बार चुनौती न दी जा सके. उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस आरक्षण का विरोधी नहीं है. इसकी चर्चा संघ प्रमुख मोहन भागवत से लेकर पीएम नरेन्द्र मोदी तक कर चुके हैं.

महाबोधी मंदिर परिसर में केंद्रीय मंत्री रामदास आठवाले
महाबोधी मंदिर में पूजा अर्चना के बाद कहा कि बोधगया बुद्धिस्टों के लिए सबसे पवित्र जगह है इसलिए देश और विदेश के लाखों पर्यटक बोधगया आतेंहैं. बोधगया के अन्तरराष्ट्रीय महत्व को देखते हुए केन्द्र और राज्य सरकार यहां के विकास के काम कर रही है.

यहां के लोगों ने कुछ मुद्दों की ओर ध्यान आकृष्ट कराया है जिसको लेकर वे केन्द्र सरकार के संबंधित विभाग के मंत्री से बात करके समाधान करने की कोशिश करेंगे. वहीं मानपुर के पटवाटोली में भी आयोजित एक समारोह में वे शामिल हुए जहां पटवा समाज द्वारा उन्हें सम्मानित किया गया.

पटना-गया-डोभी एनएच के जर्जर हालत को देखते हुए उन्हौने केन्द्रीय परिवहन मंत्री नीतिन गडकरी से इस संबंध में बात कर स्थिति मे जल्द सुधार करवाने का आश्वासन दिया. जिला परिसदन मे अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में उन्हौने अपने विभाग की समीक्षा करते हुए कई निर्देश दिये.

ये भी पढ़ें

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 2:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर