Covid-19: गया में विष्णुपद और मां मंगलागौरी मंदिर 31 मार्च तक बंद

गया में दो प्रमुख मंदिरों को 31 मार्च तक बंद रखने के निर्देश.

मंदिर के गर्भ गृह में श्रद्धालु पूजा नहीं कर पाएंगे, लेकिन बाहर में आए श्रद्धालु एक दूसरे के बीच 1 मीटर की दूरी बनाकर बैठेंगे और उनके चढ़ावे को मंदिर के गर्भ गृह में संकल्प कर श्रद्धालु को पुनः प्रसाद सौंप दिया जाएगा

  • Share this:
    गया. कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण के खतरे को देखते हुए भीड़भाड़ वाली जगहों को एहतियातन बंद किया जा रहा है. इसी क्रम में गया के दो प्रमुख मंदिरों को बंद करने का निर्देश किया गया है. प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर और शक्तिपीठ मां मंगलागौरी मंदिर (Vishnupad Temple and Shaktipeeth Maa Mangala Gauri Temple) को आईएमए (IMA) ने बंद करने को निर्देश दिया है. इस सिलसिले में दोनों मंदिर के प्रबंधकारिणी समिति को चिट्ठी देकर बंद करने को कहा गया है. हालांकि श्रद्धालु मंदिर के गर्भ गृह में ना जाकर बाहर से ही पूजा व प्रार्थना कर सकेंगे.

    पुजारी ने कही ये बात
    मां मंगलागौरी प्रबंधकारिणी समिति के सचिव सह पुजारी अमरनाथ गिरी ने बताया कि आईएमए की  एक चिट्ठी आई है जिसमें विष्णुपद मंदिर और मंगलागौरी मंदिर को बंद करने का निर्देश जारी किया गया है. हालांकि इसके लिए मंदिर प्रबंधकारिणी के समिति के साथ सदस्यों के साथ बैठक की जाएगी और आगे की रणनीति तैयार की जाएगी.

    गर्भ गृह नहीं जा सकेंगे श्रद्धालु
    उन्होंने कहा कि मंदिर के गर्भ गृह में श्रद्धालु पूजा नहीं कर पाएंगे, लेकिन बाहर में आए श्रद्धालु एक दूसरे के बीच 1 मीटर की दूरी बनाकर बैठेंगे और उनके चढ़ावे को मंदिर के गर्भ गृह में संकल्प कर श्रद्धालु को पुनः प्रसाद सौंप दिया जाएगा जिससे श्रद्धालु भी निराश नहीं लौटेंगे.

    गर्भ गृह में पूजा नहीं कर सकेंगे श्रद्धालु


    लोगों ने कहा सराहनीय कदम
    मां मंगलागौरी में पूजा करने आए श्रद्धालु राजेश कुमार ने बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए यह कदम काफी सराहनीय है इसे हम सबको मिलकर कोरोना जैसे वायरस को भगाना है, साथी ही प्रधानमंत्री द्वारा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू में हम सबको भाग लेना चाहिए ताकि कोरोना जैसे घातक वायरस से फैलने से बचाया जा सके.

    बुद्ध की प्रतिमा स्थल जाने पर भी रोक
    इस बीच बोधगया में 80 फीट भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थल को भी पर्यटकों के लिए 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है. हालांकि वहां श्रद्धालु बाहर से पूजा व प्रार्थना कर सकते हैं.

    देशभर में बरती जा रही एहतियात
    गौरतलब है कि देश के कई राज्यों में कोरोना वायरस से बचने के लिए स्कूल, कॉलेज, मॉल सहित कई भीड़भाड़ वाले जगहों को बंद करने का आदेश जारी किया गया है. साथ ही कई राज्यों में मंदिरों को भी बंद करने का आदेश दिया गया है.

    महाबोधि मंदिर में भी निर्धारित हुआ समय
    बता दें कि बोधगया महाबोधि मंदिर में भी पर्यटकों के आने का समय निर्धारित किया गया है. जिला प्रशासन के निर्देशानुसार सुबह 10 बजे से 5 बजे संध्या तक ही पर्यटकों की आने की अनुमति है. साथ ही मंदिर में प्रवेश करने के लिए एक बार में 50 पर्यटक ही अंदर जा सकेंगे.

    (रिपोर्ट- एलेन लिली)

    ये भी पढ़ें


    घर में छिपा था मुंबई से लौटा कोरोना वायरस का संदिग्ध, गांववालों ने दी स्वास्थ्य विभाग को सूचना और फिर...




    Coronavirus: पीएम मोदी ने बिहार की जनता को किया नमन, कही ये खास बात

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.