Tik-Tok पर वीडियो बनाने को लेकर परिजनों ने डंटा तो छात्रा ने फंदा लगाकर की आत्महत्या

पुलिस ने बताया कि छात्रा इंटर फाइनल ईयर में पढ़ती थी. वह टिक टॉक पर वीडियो बनाने का शौक रखती थी और ज्यादा समय मोबाइल पर बिताती थी. (प्रतीकात्मक फोटो)

Tik-tok पर वीडियो बनाने की शौकीन थी छात्रा, कम अंक आने पर परिजनों ने फटकारा तो छात्रा ने उठाया ये कदम.

  • Share this:
पटना. Tik-Tok एप्लीकेशन पर वीडियो बनाने का नशा लोगों पर कितना है इसका अंदाजा इस खबर से लगाया जा सकता है. पटना में एक छात्रा को टिक टॉक पर वीडियो बनाने और कम अंक आने के बाद परिजनों की डांट इतनी नागवार गुजरी की उसने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. अब पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा परिजन के हवाले कर दिया है. छात्रा की मौत के बाद से ही यह खबर पूरे शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है.

कम अंक आए तो पड़ी थी डांट
पुलिस ने बताया कि छात्रा इंटर फाइनल ईयर में पढ़ती थी. वह टिक टॉक पर वीडियो बनाने का शौक रखती थी और ज्यादा समय मोबाइल पर बिताती थी. परिजनों के अनुसार इसी बात के चलते वह पिछले साल अपनी कक्षा में पास नहीं हो सकी थी. जिसको लेकर परिजनों ने उसे काफी फटकारा. इस बात से आहत होकर छात्रा अपने कमरे में गई और फिर फंदे से झूल गई. घटना का पता चलने पर परिजन उसे अस्पताल लेकर गए लेकिन वहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

मनोचिकित्सकों की राय
मामले पर मनोचिकित्सकों का कहना है कि यह एग्जाम का मौसम है और इसमें परिजन को भी यह ध्यान रखना चाहिए कि बच्चों की मानसिक हालत अभी काफी नाजुक होती है. वे इस समय अवसाद का शिकार होकर कई गलत कदम उठा सकते हैं. ऐसे में यदि वे किसी लत का शिकार हैं तो उन्हें समझाना चाहिए और डांटना नहीं चाहिए. इसके लिए वे बच्चे के दोस्तों और किसी नजदीकी की मदद भी ले सकते हैं. ऐसे में बच्चे को काउंसलिंग दिलाना भी एक कारगर तरीका हो सकता है. बच्चों को यह समझाने की जरूरत है कि परीक्षा और उसके परिणाम किसी की जिंदगी से ज्यादा नहीं हैं. ऐसे में कोई भी ऐसा कदम उठाना गलत है.

ये भी पढ़ेंः CAA Protest: पटना में निकला साइकिल मार्च

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.