भोरे विधानसभा: क्या फिर से कांग्रेस के हाथ जाएगी ये सीट?

2015 में कांग्रेस ने जीती भोरे सीट. बीजेपी के इंद्रदेव 14871 वोटों से हारे.
2015 में कांग्रेस ने जीती भोरे सीट. बीजेपी के इंद्रदेव 14871 वोटों से हारे.

Bihar election 2020: अनिल कुमार भोरे से मौजूदा विधायक. 2015 में कांग्रेस ने जीती थी भोरे सीट.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 4:16 PM IST
  • Share this:
गोपालगंज. भोरे विधानसभा सीट (Bhore Assembly Seat) बिहार के गोपालगंज जिले में आती है. ये बिहार की एक महत्वपूर्ण विधानसभा सीट है, जहां 2015 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Congress) ने जीत दर्ज की थी. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में भोरे विधानसभा सीट पर इस बार दमदार मुकाबला देखने को मिल सकता है. कांग्रेस के अनिल कुमार भोरे से मौजूदा विधायक हैं. वहीं बीजेपी को इस सीट से हार का सामना करना पड़ा था.

2015 में भोरे में कुल 44.00 प्रतिशत वोट पड़े. 2015 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से अनिल कुमार ने भारतीय जनता पार्टी के इंद्रदेव मांझी को 14871 वोटों के मार्जिन से हराया था. इस संसदीय क्षेत्र से सांसद डॉ अलोक कुमार है जो जनता दल यूनाइटेड से हैं. उन्होंने राष्‍ट्रीय जनता दलके सुरेंद्र राम को 286434 से हराया था.

336649 मतदाता और 366 मतदान केंद्र



भोरे विधानसभा बिहार के गोपालगंज जिले में स्थित है. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां कुल 442067 आबादी में से 95.43% ग्रामीण है और 4.57% शहरी आबादी है. कुल जनसंख्या में से अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) का अनुपात क्रमशः 14.27 और 3.31 है. 2019 की मतदाता सूची के अनुसार इस निर्वाचन क्षेत्र में 336649 मतदाता और 366 मतदान केंद्र हैं.
अनिल कुमारा है भोरे को मौजूदा विधायक

अनिल कुमार भोरे विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक हैं. 27 अप्रेल 1959 को उनका जन्म पटना में हुआ था. अनिल कुमार ने बीएससी तक की शिक्षा हासिल की है. उनकी पत्नी का नाम रीना चौधरी है और उनके दो बेटे हैं. अनिल कुमार ने 1985 में राजनीति में प्रवेश किया था. 1985 में अनिल कुमार ने बिहार विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की थी. फरवरी 2005 में भी अनिल कुमार ने जीत हासिल की थी. वहीं 1992-98 और 1998-2004 तक अनिल कुमार राज्यसभा से सदस्य भी रह चुके हैं.

अनिल कुमार की पकड़ मजबूत

भोरे विधानसभा सीट पर अनिल कुमार की पकड़ काफी मजबूत मानी जाती है. कांग्रेस की टिकट पर 1985 में भोरे से अनिल कुमार जीते थे. हालांकि 1990 में उनको हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद आरजेडी की टिकट पर 2005 में फरवरी और अक्टूबर में हुए चुनाव में अनिल कुमार ने जीत हासिल की थी. वहीं 2015 में एक बार फिर कांग्रेस की टिकट पर अनिल कुमार जीते. 2010 के चुनाव में इस सीट से बीजेपी के इंद्रदेव मांझी चुने गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज