Bihar Election: नीतीश के करीबी पूर्व विधायक मंजीत सिंह के बगावती तेवर, बोले- टिकट कटने पर भी लड़ेंगे चुनाव

मंजीत सिंह जेडीयू के टिकट पर बैकुंठपुर से दो बार विधायक रह चुके हैं.
मंजीत सिंह जेडीयू के टिकट पर बैकुंठपुर से दो बार विधायक रह चुके हैं.

Bihar Election: सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के करीबी पूर्व विधायक मंजीत सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर चुनाव लड़ने का ऐलान किया. उन्होंने कहा कि जेडीयू का टिकट मिले या नहीं, पर चुनाव जरूर लड़ेंगे.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के करीबी माने जाने वाले पूर्व विधायक व जदयू के प्रदेश महासचिव मंजीत सिंह आगामी 16 अक्टूबर को बैकुंठपुर विधानसभा सीट (Baikunthpur Assembly Seat) से नामांकन दाखिल करेंगे. यह जानकारी खुद मंजीत सिंह ने दी है. उन्होंने कहा की वो किस दल से चुनाव लड़ेंगे, अभी तय नहीं हुआ है. लेकिन अगर बैकुंठपुर विधानसभा सीट से जदयू से उनका टिकट कटता है, तो भी वो यहां से चुनाव लड़ेंगे. यहां से भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष मिथिलेश तिवारी विधायक हैं.

कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर चुनाव लड़ने का ऐलान 

ऐसी चर्चा है कि इस बार भी यहां से भाजपा के मिथिलेश तिवारी ही एनडीए उम्मीदवार होंगे. ऐसे में मंजीत सिंह को जेडीयू का टिकट मिलना मुश्किल लग रहा है. इस स्थिति को देखते हुए मंगलवार को मंजीत सिंह ने अपने आवास पर जदयू के सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की. और चुनाव लड़ने का निर्णय लिया. इस बैठक में बड़ी संख्या में स्थानीय जदयू कार्यकर्ता मौजूद थे.



बता दें कि मंजीत सिंह के दिवंगत पिता बाबू बृजकिशोर सिंह बिहार सरकार में मंत्री रहे थे. और सीएम नीतीश कुमार ने उनकी नजदीकी थी. जब भी नीतीश कुमार गोपालगंज के दौरे पर आते बृजकिशोर सिंह से राजनीतिक राय जरूर लेते थे.
सीएम ने की थी प्रशंसा

हाल के दिनों में जब बैकुंठपुर के बंगरा घाट महासेतु और सत्तर घाट महासेतु का सीएम नीतीश कुमार ने वर्चुअल तरीके से उद्घाटन किया था तब भी उन्होंने अपने संबोधन में मंजीत सिंह के नाम और काम की खूब चर्चा की थी.

दो बार जेडीयू के टिकट पर जीते चुनाव 

बता दें कि बृजकिशोर सिंह के निधन के बाद बैकुंठपुर विधानसभा सीट पर उनके बेटे मंजीत सिंह ने उनकी विरासत संभाली. और जदयू से दो बार विधायक चुने गए. पिछले विधानसभा चुनाव में महागठबंधन से मंजीत सिंह जदयू के कोटे से और मिथिलेश तिवारी भाजपा से उम्मीदवार थे. चुनाव में मिथिलेश तिवारी को जीत मिली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज