Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Bihar Elections: बाढ़ प्रभावित इलाकों में कैसे होगी वोटिंग? लबालब पानी में डूबे हुए हैं कई बूथ

    गोपालगंज जिले के कई बूथ बाढ़ के पानी में डूबे हुए हैं.
    गोपालगंज जिले के कई बूथ बाढ़ के पानी में डूबे हुए हैं.

    गोपालगंज जिले के बरौली, सिधवलिया और बैकुंठपुर प्रखंड के कई इलाके अभी भी बाढ़ (Flood) की चपेट में हैं. ऐसे में इन इलाकों में मतदान के लिए मतदानकर्मियों से लेकर वोर्टस (Voters) तक को पानी में तैरकर बूथ तक जाना होगा.

    • Share this:
    गोपालगंज. जिले में दूसरे चरण में विधानसभा (Bihar Assembly Elections) का चुनाव होना है. यहां 3 नंवबर को मतदान होगा. लेकिन मतदाता कैसे बूथ (Booth) तक पहुंचेंगे, ये बड़ा सवाल है. दरअसल जिले का ज्यादातर हिस्सा बाढ़ (Flood) की चपेट में हैं. बूथों के आसपास पानी भरा हुआ है. ऐसे में मतदानकर्मियों को भी बूथ तक पहुंचने में परेशानी होगी.

    दरअसल जिले में दो-दो बार सारण तटबंध टूट गया. जिसकी वजह से बरौली, सिधवलिया और बैकुंठपुर प्रखंड के कई इलाके अभी भी बाढ़ की चपेट में हैं. ऐसे में इन इलाकों में मतदान के लिए मतदानकर्मियों से लेकर वोर्टस तक को पानी में तैरकर बूथ तक जाना होगा.

    बैकुंठपुर विधानसभा में सिधवलिया प्रखंड के अंतर्गत प्राइमरी गर्ल्स स्कूल शेर को बूथ बनाया गया है. यहां पिछले दो बार से मतदान कराया जा रहा है. लेकिन इस बार बाढ़ की वजह से यह स्कूल डूबा हुआ है. स्कूल के चारों तरफ बाढ़ का पानी लबालब है. इस वजह से शिक्षको को प्रतिदिन कमर भर पानी में चलकर स्कूल पहुंचना पड़ता है.



    स्कूल के प्रिंसिपल उमेश कुमार कहते हैं कि स्कूल को मतदान केंद्र बनाया गया है. लेकिन बड़ी समस्या ये है कि वोटर्स बूथ तक पहुंचेंगे कैसे? चारों तरफ लबालब पानी है.
    महिलाएं और बुजुर्ग कैसे करेंगे वोट?

    स्कूल की शिक्षिका प्रियंका कुमारी का कहना है कि पुरुष किसी भी तरह बूथ तर पहुंच भी जाएंगे, लेकिन महिलाओं के लिए मुश्किल है. बुजुर्ग के लिए भी यहां तक पहुंचना आसान नहीं होगा. ऐसे में ज्यादातर लोग वोट देने नहीं आएंगे.

    जिले डीएम अरशद अजीज का कहना है ऐसे मतदान केन्द्रों की पहचान की जा रही है, जहां तक पहुंचना आसान नहीं है. प्रशासन इस पर विचार कर आगे की कार्रवाई करेगी.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज