Home /News /bihar /

गोपालगंज जहरीली शराब कांड: कोर्ट में विसरा जांच रिपोर्ट- मिथाइल अल्कोहल पीने से 14 ने गंवाई जान

गोपालगंज जहरीली शराब कांड: कोर्ट में विसरा जांच रिपोर्ट- मिथाइल अल्कोहल पीने से 14 ने गंवाई जान

महम्मदपुर जहरीली शराबकांड में पुलिस ने बिसरा जांच रिपोर्ट के साथ 12 अभियुक्तों के विरुद्ध उत्पाद स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट सौंप दी है.

महम्मदपुर जहरीली शराबकांड में पुलिस ने बिसरा जांच रिपोर्ट के साथ 12 अभियुक्तों के विरुद्ध उत्पाद स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट सौंप दी है.

Bihar News: महम्मदपुर जहरीली शराब कांड में पुलिस ने विसरा जांच रिपोर्ट के साथ 12 अभियुक्तों के विरुद्ध उत्पाद स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट सौंप दी है. पुलिस द्वारा सौंपी गई बिसरा जांच रिपोर्ट के बाद स्पष्ट हो गया है कि मिथाइल अल्कोहल पीने के कारण 14 लोगों की मौत हुई थी. शराब कांड के आइओ और महम्मदपुर थानाध्यक्ष राजेश कुमार की ओर से जांच में आरोपितों को जहरीली शराब बेचने से मौत के लिए जिम्मेदार बताया गया है. उत्पाद विभाग के विशेष लोक अभियोजक रवि भूषण श्रीवास्तव ने बताया कि जहरीली शराब यानी मिथाइल अल्कोहल से मौत होने की पुष्टि हुई है. 

अधिक पढ़ें ...

गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज के महम्मदपुर जहरीली शराबकांड में पुलिस ने विसरा जांच रिपोर्ट के साथ 12 अभियुक्तों के विरुद्ध उत्पाद स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट सौंप दी है. पुलिस द्वारा सौंपी गई विसरा जांच रिपोर्ट के बाद स्पष्ट हो गया है कि मिथाइल अल्कोहल पीने के कारण 14 लोगों की मौत हुई थी. शराब कांड के आइओ और महम्मदपुर थानाध्यक्ष राजेश कुमार की ओर से जांच में आरोपितों को जहरीली शराब बेचने से मौत के लिए जिम्मेदार बताया गया है. उत्पाद विभाग के विशेष लोक अभियोजक रवि भूषण श्रीवास्तव ने बताया कि जहरीली शराब यानी मिथाइल अल्कोहल से मौत होने की पुष्टि हुई है. उत्पाद स्पेशल लवकुश कुमार की कोर्ट ने जहरीली शराबकांड संज्ञान लेते हुए स्पीडी ट्रायल के तहत सुनवाई शुरू की है, जिसका फैसला जल्द ही आएगा.

बता दें कि बीते साल दो नवंबर को महम्मदपुर थाने महम्मदपुर गांव में जहरीली से 14 लोगों की मौत हो गई थी. शराब कांड में प्रशासन ने संदिग्ध मौत बताकर जांच शुरू की थी. अब पुलिस ने 12 दोषियों के खिलाफ चार्जशीट सौंपी है. इनमें छोटेलाल साह, जितेंद्र साह, रामप्रवेश साह, रामानंद राम, छठू राम, देवेंद्र राम, मूरत राम, सरोज कुमार, चंदन कुमार, गुड्डू कुमार, नवल कुमार और विशाल कुमार शामिल हैं.

बिहार में शराबबंदी के बाद सबसे पहले गोपालगंज में 15 अगस्त 2017 में  खजूरबानी शराब कांड हुआ. जिसमें 21 लोगों की शराब पीने से मौत हो गई थी. इस मामले में उत्पाद स्पेशल कोर्ट ने साल 2021 में 5 मार्च को ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए 9 दोषियों को फांसी और 4 महिलाओं को उम्र कैद की सजा सुनाई थी. अब महम्मदपुर शराब कांड में भी ट्रायल शुरू की गई है.

क्या है विसरा?
कानूनी जानकारों के मुताबिक अगर मौत संदिग्ध हालात में हो और अंदेशा हो कि जहर से मौत हुई है तो ऐसे में विसरा की जांच की जाती है. विसरा रखने के लिए डेड बॉडी से लीवर, स्प्लीन और किडनी का पार्ट रखा जाता है. साथ ही शरीर में मौजूद फ्लूइड को भी प्रीजर्व किया जाता है. आमतौर पर ये सारे बॉडी के पार्ट्स पोस्टमार्टम के दौरान ही रख लिए जाते हैं.

Tags: Bihar News in hindi, Liquor Ban

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर