Gopalganj : बाढ़ से हुए नुकसान का आकलन करने पहुंची केंद्रीय कमेटी
Gopalganj News in Hindi

Gopalganj : बाढ़ से हुए नुकसान का आकलन करने पहुंची केंद्रीय कमेटी
बाढ़ से हुए नुकसान का आकलन करने के बाद केंद्रीय कमेटी अपनी रिपोर्ट केंद्र को सौंपेगी.

केंद्रीय टीम ने गोपालगंज के बैकुंठपुर, सिधवलिया, बरौली और माझागढ़ के कई बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा किया. टीम ने तटबंध टूटने से लेकर रिंग बांध के टूटने के कारणों का भी निरीक्षण किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 5:30 PM IST
  • Share this:
गोपालगंज. बिहार (Bihar) में बाढ़ (Flood) से तबाह हुए गोपालगंज (Gopalganj) में आज गुरुवार को केंद्रीय कमेटी (Central Committee) की टीम बाढ़ का जायजा लेने के लिए पहुंची. यहां पर केंद्रीय टीम ने गोपालगंज के बैकुंठपुर, सिधवलिया, बरौली और माझागढ़ के कई बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा किया. टीम ने वहां पर तटबंध टूटने से लेकर रिंग बांध के टूटने के कारणों का भी निरीक्षण किया. केंद्रीय टीम में गृह मंत्रालय के अधिकारी संजीव कुमार सुमन सहित दो सदस्य थे. जबकि बिहार सरकार के भी दो अधिकारियों की टीम यहां पहुंची थी.

टीम ने टूटे बांधों और ध्वस्त हुए मकानों का जायजा लिया

गोपालगंज के डीएम अरशद अजीज, सदर एसडीएम उपेंद्र कुमार पाल और एसपी मनोज तिवारी के साथ कई अधिकारी बैकुंठपुर के सत्तर घाट पहुंचे. वहां सत्तर घाट में बांध के टूटने के बाद हुए नुकसान का आकलन किया. केंद्रीय टीम ने कृतपुरा, लक्ष्मीगंज सहित कई गांवों का निरीक्षण किया और उसके बाद टीम बैकुंठपुर के राजापट्टी कोठी में भी ध्वस्त मकानों का जायजा लिया. इसके बाद टीम बरौली के देवापुर पहुंची. देवापुर में भी बांध के टूटने के कारण और वहां जमींदोज हो गए घरो का निरीक्षण किया.



बाढ़ से हुए नुकसान का किया आकलन
गृह मंत्रालय के अधिकारी संजीव कुमार सुमन ने बताया कि वे लोग सिर्फ बाढ़ के हालात का जायजा लेने नहीं आए हैं. बल्कि यहां पर बाढ़ के बाद मकान, फसलों की क्षति और मवेशियों के हुए नुकसान का भी आकलन किया है. उन सभी का आकलन कर वे जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. उसके बाद सरकार को रिपोर्ट भेजेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज