नहीं दी रिश्वत तो ठेकेदार को जिंदा जला डाला! जांच के लिए SIT गठित

News18 Bihar
Updated: August 30, 2019, 9:41 AM IST
नहीं दी रिश्वत तो ठेकेदार को जिंदा जला डाला! जांच के लिए SIT गठित
जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर के आवास पर जिंदा जलाया गया ठेकेदार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मृत ठेकेदार के बेटे ने आरोप लगाया कि विभाग का चीफ इंजीनियर 60 लाख रूपये के बकाये के भुगतान के बदले 15 लाख रूपये घूस की मांग कर रहे थे.

  • Share this:
बिहार के गोपालगंज में एक सनसनीखेज वारदात हुई है. यहां जल संसाधन विभाग के बड़े ठेकेदार रमाशंकर सिंह की विभाग के चीफ इंजीनियर के आवास पर जलकर संदिग्ध हालत में मौत हो गई. मौत के बाद मृतक के बेटे राणा प्रताप सिंह ने चीफ इंजीनियर मुरलीधर सिंह के ऊपर पिता की हत्या करने का आरोप लगाया है. देर रात इस मामले में नगर थाने में देर रात प्राथमिकी दर्ज करायी गई है और जिले के एसपी ने जांच के लिए एसआईटी भी गठित कर दी है.

मृत ठेकेदार के बेटे ने आरोप लगाया कि विभाग का चीफ इंजीनियर 60 लाख रूपये के बकाये के भुगतान के बदले 15 लाख रूपये घूस की मांग कर रहे थे. जब ठेकेदार रमाशंकर सिंह ने रिश्वत की रकम देने से मना कर दिया तो उनके शरीर पर तेल छिड़कर उनकी हत्या कर दी गई.

बता दें कि गुरुवार को हुई इस घटना के बाद चीफ इंजिनियर सहित जल संसाधन विभाग के सभी अधिकारी और कर्मचारी मौके से फरार हो गए हैं. दिन दहाड़े हुई इस क्रूर घटना घटना के बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए और एनएच 28 को यादोपुर चौक के पास जाम कर दिया.

Gopalganj
गोपालगंज में जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर के आवास पर ठेकेदार रामाशंकर सिंह जलने से संदिग्ध मौत. हत्या का आरोप.


भीड़ के हंगामे की वजह से NH पर लंबा जाम लगा
लोगों के हंगामा और एनएच पर घंटों आगजनी की वजह से कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया. गुस्साए लोग मुख्य अभियंता की गिरफ़्तारी की मांग कर रहे थे और चीफ इंजीनियर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग कर रहे थे.

आक्रोशित लोगों की मांग थी कि परिजनों को सरकारी नौकरी दी जाए. हालांकि प्रशासन ने लोगों को समझा बुझाकर मामला शांत करवा दिया और शव को भारी सुरक्षा के बीच पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया.
Loading...

वहीं, पुलिस ने चीफ इंजिनियर के आवास से आग सुलगते हुए ठेकेदार का कपड़े और जींस पैंट जब्त कर लिया है. जिसमे आग अभी भी सुलग रही थी. जदयू के प्रदेश सचिव पंकज सिंह राणा के अनुसार ठेकेदार से जबरन एस्टीमेट से ज्यादा का काम करवाया गया था. उनसे पैसे के भुगतान के बदले 15 लाख की राशि की मांग की जा रही थी. लोगों ने मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है.

Gopalganj
चीफ इंजीनियर के आवास के बरामद किया गया ठेकेदार का जला हुआ जींस.


घटना की जांच के लिए SIT गठित की गई

घटना के बाद एसपी राशिद जमां ने एफएसएल की टीम को जांच की जिम्मेदारी दी है और मामले की जांच के लिए एसआईटी भी गठित कर दी है. पुलिस द्वारा मृतक का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड के द्वारा करवाने की बात कही गई है  ताकि मौत केा कारण स्पष्ट पता चल सके.

(रिपोर्ट- मुकेश कुमार)

ये भी पढे़ें- 

'लालू बिन सून' है बिहार की राजनीति! क्या मिस कर रहे है लोग?

बाहुबली विधायक अनंत सिंह को दो दिन की रिमांड पर लेगी पुलिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 7:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...