लाइव टीवी

कोरोना का मरीज मिलते ही बिहार के इस गांव को किया गया सील, 23 मार्च को दुबई से आया था भारत
Gopalganj News in Hindi

Mukesh Kumar | News18 Bihar
Updated: March 31, 2020, 1:13 PM IST
कोरोना का मरीज मिलते ही बिहार के इस गांव को किया गया सील, 23 मार्च को दुबई से आया था भारत
कोरोना का मरीज मिलने के बाद गोपालगंज के गांव को सील करते अधिकारी

कोरोना (Corona) से पीड़ित युवक के घर के 20 सदस्यों को एम्बुलेंस से गोपालगंज (Gopalganj) सदर अस्पताल और उसके बाद आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. इसके आलवा इस गांव के सभी किराना दुकान और अन्य सार्वजनिक स्थलों को सील (Seal) कर दिया गया है

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार में कोरोना (Corona) का एक और पॉजिटिव केस सामने आया है. गोपालगंज (Gopalganj) के 35 वर्षीय व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव पााया गया है. पीड़ित युवक थावे प्रखंड के बेदुटोला गांव का रहने वाला है. पीड़ित युवक को बीती रात एम्बुलेंस से पटना के पीएमसीएच (PMCH) के लिए रेफर कर दिया गया है जबकि उसके घर के 20 सदस्यों को गोपालगंज के विवाह भवन में बनाये गए आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है. इसके साथ ही बेदुटोला गांव को सील कर दिया गया है.

गांव के सभी रास्तों को किया गया सील

गांव में जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है और इसके साथ ही गांव में जिला प्रशासन के द्वारा लोगों से उनके घरों में ही बंद रहने की अपील की जा रही है. इस गांव में लगातार पुलिस और मेडिकल की टीम तैनात है. यहां लोगो को लॉकडाउन के दौरान बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है. जिसके द्वारा इस लॉकडाउन का उलंघन किया जाता है उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.



23 मार्च को दुबई से आया था भारत



पीड़ित युवक दुबई से एक सप्ताह पूर्व यानि 23 मार्च को गोपालगंज में आया था. वो पटना एयरपोर्ट पर पंहुचा था जिसकी मेडिकल जांच की गई थी. मेडिकल जांच के बाद उसे क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी गई थी. वो पटना से बोलेरो से अपने सगे भाई और एक चचेरे भाई के अलावा ड्राइवर के साथ अपने गांव बेदुटोला पंहुचा था.

घर के सभी लोग भी आइसोलेशन में

बताया जा रहा है कि यहां वो अपने घर में ही अकेले अलग कमरे में रहता था. स्वदेश वापस लौटने के बाद ही उसे घर में आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गयी थी और सोमवार को रात करीब 10 बजे पटना से गोपालगंज जिला प्रशासन को कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी गई. जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन हरकत में आ गया और गांव को सील कर दिया गया. पीड़ित युवक के घर के 20 सदस्यों को एम्बुलेंस से गोपालगंज सदर अस्पताल और उसके बाद आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. इसके आलवा इस गांव के सभी किराना दुकान और अन्य सार्वजनिक स्थलों को सील कर दिया गया है. गांव के प्रत्येक लोगों का मेडिकल चेकअप करने के लिए मेडिकल टीम तैनात की गई है. सभी लोगों का सैंपल लेकर पटना जायेगा.

गांव में तैनात किए गए रैफ के जवान

गांव की स्थिति को नियंत्रित करने के लिए रैफ के जवानों की तैनाती की गयी है. सदर एसडीएम उपेन्द्र कुमार पाल के मुताबिक गांव के तीन किलोमीटर के दायरे को भी सील कर दिया गया है. यहां किसी क्वे आने और जाने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है. पीड़ित परिजनों के अलावा गोपालगंज के विवाह भवन में बनाये गए आइसोलेशन वार्ड में 60 से ज्यादा लोगो को रखा गया है. प्रतिदिन लोगों को इसमें भर्ती कराया जाता है जबकि उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आती है तब उन्हें घर भेज दिया जाता है. गोपालगंज शहर के विवाह भवन और उचकागांव के बलेसरा नवोदय स्कूल दो जगहों पर जिले में आइसोलेशन सेण्टर बनाया गया है जहां लोगो को क्वारंटाइन में रखा जा रहा है.

ये भी पढ़ें- Lockdown: कानून तोड़ने वालों पर की सख्ती, तो 7 दिन में ही 'करोड़पति' बनी पुलिस

ये भी पढ़ें- गया में नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, सुरक्षाबलों ने डिफ्यूज किया विस्फोटक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 31, 2020, 1:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading