लाइव टीवी

गोपालगंज: उत्पाद विभाग को मिली बड़ी सफलता, करोड़ों के जिंदा कछुओं के साथ एक आरोपी गिरफ्तार

Mukesh Kumar | News18 Bihar
Updated: December 11, 2019, 7:17 PM IST
गोपालगंज: उत्पाद विभाग को मिली बड़ी सफलता, करोड़ों के जिंदा कछुओं के साथ एक आरोपी गिरफ्तार
गोपालगंज में उत्पाद विभाग ने करोड़ों के कछुए पकड़े.

गोपालगंज में उत्पाद विभाग (Excise Department) ने शराब तस्करी की जांच के लिए एक गाड़ी से भारी मात्रा में जिंदा कछुओं (Turtles) के साथ कंकाल बरामद किए हैं. इन कछुओं की कीमत करोड़ों में बताई जा रही है.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज में उत्पाद विभाग (Excise Department) ने शराब तस्करी के लिए वाहनों की जांच के दौरान भारी मात्रा में जिंदा कछुओं (Turtles) के साथ कंकाल बरामद किए हैं. जांच में पता चला है कि यह कछुए दुर्लभ प्रजाति के हैं, जिन्‍हें उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) से तस्करी कर बिहार के मुजफ्फरपुर के लिए लाया जा रहा था. विभाग ने कछुआ की कीमत करोड़ों में आंकी है. जबकि उत्पाद विभाग ने जायलो कार सहित एक तस्कर को गिरफ्तार किया है. यह कार्रवाई कुचायकोट के बल्थरी चेकपोस्ट (Balthri Checkpost) पर की गयी है. सूत्रों के मुताबिक इन कछुओं की चीन में तस्‍करी करने का प्‍लान था.

उत्पाद अधीक्षक ने कही ये बात
उत्पाद अधीक्षक राकेश कुमार के मुताबिक उत्‍तर प्रदेश की सीमा से सटे कुचायकोट के बल्थरी चेकपोस्ट शराब की बरामदगी को लेकर सभी वाहनों की तलाशी ली जा रही थी. इसी दौरान एक जायलो गाड़ी से कछुओं से भरे 16 से 18 बोरे पकड़े गए थे, जिन्‍हें छिपाकर रखा गया था. जबकि ये सभी कछुआ बड़े साइज के हैं. उत्पाद विभाग ने बताया कि कछुआ को जब्त कर उसे गोपालगंज डीएफओ को जांच के लिए सौंपा गया है. ये कछुए दुर्लभ प्रजाति के हैं. इस दौरान कछुओं के कंकाल भी जब्‍त किए गए हैं.

पूछताछ में ये बात आई सामने

इस मामले में गाड़ी एक साथ ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है. वह इन कछुओं को गोरखपुर से बिहार के मुजफ्फरपुर लेकर जा रहा था. गिरफ्तार तस्कर का नाम सन्नी है. वह अमेठी के जगदीशपुर का रहने वाला है. तस्कर के मुताबिक उसे मोबाइल फोन पर सूचना दी गयी थी कि एक गाड़ी उसे गोरखपुर में मिलेगी, जिसे लेकर उसे मुजफ्फरपुर जाना है. हालांकि इसके लिए उसे उचित कीमत भी दी गयी थी. हालांकि इसे इसके बारे में कुछ खास नहीं बताया गया था. ड्राइवर के मुताबिक यह कछुए अमेठी से लाए जा रहे थे.

दुर्लभ प्रजाति के हैं सैकड़ों कछुए
जब्त कछुओं की जांच करने पहुंचे डीएफओ राकेश कुमार गुप्ता ने बताया कि यह कछुए बहुत ही दुर्लभ प्रजाति के हैं और इनकी कीमत करोड़ों में हो सकती है. इन कछुओं से दवा बनाईं जाती हैं. जबकि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है.चाइना में है ज्यादा डिमांड
सूत्रों के मुताबिक चाइना में इस कछुए की ज्यादा डिमांड है. इसलिए ऐसी आशंका है कि इसे मुजफ्फरपुर में लाया जा रहा था और फिर इसे चीन के लिए भेजा जाता है.

बहरहाल, शराब बरामदगी के लिए चलाए जा रहे अभियान से सैकड़ों कछुए को बरामद कर लिया गया है, जो कि उत्पाद विभाग के लिए बड़ी उपलब्धि है.

ये भी पढ़ें-

CAB का विरोध करने के कारण JDU में अलग थलग पड़े प्रशांत किशोर!

'मुफ्त शिक्षा' का फायदा न मिलने से बिहार सरकार पर भड़की छात्राएं, कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 7:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर