वनवास से लौटने के दौरान श्रीराम ने इस नदी में किया था स्नान, अब साबरमती की तर्ज पर बन रहा रिवर फ्रंट
Gopalganj News in Hindi

वनवास से लौटने के दौरान श्रीराम ने इस नदी में किया था स्नान, अब साबरमती की तर्ज पर बन रहा रिवर फ्रंट
बिहार के गोपालगंज में बन रहा रिवर फ्रंट

स्थानीय लोगों के मुताबिक भगवान राम (Lord Ram) जब वनवास से अयोध्या वापस लौट रहे थे तब उन्होंने यहीं स्नान किया था. इसलिए यह आस्था का भी प्रतीक है.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज (Gopalganj) में देश के प्रसिद्ध साबरमती की तर्ज पर गंडक रिवर फ्रंट (Gandak River Front) का निर्माण हो रहा है. जिले के डुमरिया घाट पर जहां नारायणी नदी के किनारे रिवर फ्रंट का निर्माण कार्य युद्धस्तर पर जारी है वहीं इस रिवर फ्रंट योजना के दूसरे चरण की भी केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है. यहां दूसरे चरण में इलेक्ट्रिक शवदाह गृह का निर्माण कराया जायेगा जिसकी टेंडर की प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू कर दी जाएगी.

89 करोड़ की लागत से होना है निर्माण

दरअसल गोपालगंज में बैकुंठपुर में डुमरिया घाट पर कर करीब 89 करोड़ की लागत से दो अत्याधुनिक घाट, दो शवदाह गृह और हाई मास्ट लाइट सहित पोत टर्मिनल का निर्माण कराया जाना है. इसका पहला फेज आज से 05 माह पूर्व शुरू कर दिया गया था. भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष और विधायक मिथिलेश तिवारी के प्रतिनिधि अवधेश सिंह धुरिया के मुताबिक पीएम मोदी और तत्कालीन जलपोत व परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने नारायणी नदी के डुमरिया घाट पर करीब 89 करोड़ की लागत से रिवर फ्रंट बनाने की मंजूरी दी थी. इसी मंजूरी के बाद पहले फेज का निर्माण कार्य पहले ही शुरू कर दिया गया था.



बीजेपी विधायक ने बताया अपनी उपलब्धि
यहां पहले फेज में करीब साढ़े आठ करोड़ की लागत से दो विशाल घाट का निर्माण किया जा रहा है जहां हर अत्याधुनिक सुख सुविधा उपलब्ध होगी. उन्होंने बताया कि यह पूरी परियोजना भाजपा विधायक मिथिलेश तिवारी के संघर्ष और प्रयास से पूरी होने के कगार पर है जो बिहार के लिए बड़ी उपलब्धि होगी. पूरा निर्माण कार्य केंद्र सरकार के द्वारा कराया जा रहा है. जहा हाई मास्ट लाइट से लेकर आकर्षक और खुबसूरत चेंगिंग रूम, नहाने के लिए घाट इसके साथ यहां आरती की भी वयवस्था की जाएगी.

वनवास से लौटते वक्त श्रीराम ने किया था स्नान

यहां पार्क का निर्माण, बच्चों के लिए पार्क, ठहरने के लिए कमरे सब कुछ का निर्माण किया जायेगा. स्थानीय लोगों के मुताबिक भगवान राम जब वनवास से अयोध्या वापस लौट रहे थे तब उन्होंने यहीं स्नान किया था. इसलिए यह आस्था का भी प्रतीक है. निर्माण कार्य में जुटे मुख्य संवेदक बबन कुमार सिंह के मुताबिक यहां गंडक नदी पर रिवर फ्रंट का कार्य चल रहा है. यहां 30X60 फीट का दो घाट का निर्माण कराया जा रहा है. घाट के पीछे चेंजिंग रूम का निर्माण कराया जायेगा. जिसके बगल में 24 टॉयलेट का निर्माण कराया जायेगा. दूसरे चरण में यहां 02 शवदाह गृह बनाने की मंजूरी केंद्र सरकार ने दी है.

पर्यटन बढ़ने के आसार

अब सिर्फ टेंडर की प्रक्रिया पूरी करनी है. जानकारों के मुताबिक केंद्र सरकार की यह अति महत्वाकांक्षी योजना अगले कुछ महीने में ही पूरी कर ली जाएगी. यहां बड़े बड़े पोत को रुकने के लिए टर्मिनल भी बनाया जायेगा. गंगा आरती और टर्मिनल पॉइंट होने की वजह से इस इलाके में पर्यटन के भी बढ़ने के आसार बढ़ जायेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज