VIDEO: गोपालगंज ट्रिपल मर्डर केस के वकील और राजद नेता के घर अपराधियों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग
Gopalganj News in Hindi

VIDEO: गोपालगंज ट्रिपल मर्डर केस के वकील और राजद नेता के घर अपराधियों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग
गोपालगंज में फायरिंग की घटना के बाद गाड़ी की टंकी पर लगा गोली का निशान

बिहार के गोपालगंज (Gopalganj) में हुई फायरिंग की ये घटना सीसीटीवी (CCTV) में कैद हो गई है. फायरिंग की इस घटना को अंजाम देने के बाद बाइक सवार अपराधी आसानी से फरार हो जाते हैं.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है. बेखौफ अपराधियों ने सरेआम फायरिंग (Firing In Gopalgnaj) कर डॉक्टरों से लेकर व्यवसायियों और नेताओं तक को निशाना बनाना शुरू कर दिया है. ताजा मामला राजद नेता (RJD Leader) और पूर्व पीपी रामनाथ साहू से जुड़ा है जिनके घर पर फायरिंग की गई है. शनिवार की देर रात हथियारबंद अपराधियों ने पूर्व पीपी के आवास पर ताबड़तोड़ कई राउंड फायरिंग की और फरार हो गए. फायरिंग की यह वारदात सीसीटीवी में कैद हो गयी है. घटना नगर थाना से सटे रामनाथ शर्मा मार्ग की है.

लालू के करीबी हैं साहू

साहू आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के करीबी हैं और जेपी यादव ट्रिपल मर्डर केस में अधिवक्ता भी हैं. फायरिंग में अधिवक्ता और उनका पूरा परिवार बाल-बाल बच गया. यह पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है. घटना नगर थाने से महज डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर पुरानी चौक रामनाथ शर्मा मार्ग की है. घटना की सूचना मिलते ही सदर एसडीओ उपेंद्र पाल, एसडीपीओ नरेश पासवान ने मामले की जांच की. पुलिस को घटनास्थल से पांच खोखा मिला है. घटना के बाद अधिवक्ता का परिवार जहां दहशत में हैं वही शहर के लोगों में पुलिस के खिलाफ आक्रोश है.



ट्रिपल मर्डर केस में आ चुका है जेडीयू विधायक का नाम
सिविल कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता रामनाथ साहू के पुत्र और माले नेता अजातशत्रु ने बताया कि हथुआ में हुए ट्रिपल मर्डर केस में पीड़ित जेपी यादव की तरफ से अधिवक्ता हैं. इस मामले में जेडीयू के विधायक पप्पू पांडेय, इनके बड़े भाई सतीश पांडेय, भतीजा जिला पर्षद अध्यक्ष मुकेश पांडेय समेत चार लोग नामजद हैं.
आरोपितों की जमानत का कोर्ट में विरोध करने की बात बतायी इस वजह से घर पर अपराधियों द्वारा फायरिंग करने की वजह बतायी ताकि इस केस से अधिवक्ता खुद को अलग हो जायें.



जांच में जुटी पुलिस

अधिवक्ता ने यह पूरी बात जांच करने पहुंचे पुलिस अधिकारियों को बतायी. पुलिस ने एफआईआर के लिए लिखित शिकायत मांगी है. सदर एसडीपीओ ने कहा कि मामले की जांच चल रही है. सीसीटीवी में कैद अपराधियों का फुटेज जब्त कर गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज