गोपालगंज के बड़े व्यवसायी की दिनदहाड़े हत्या, शूटर्स ने दुकान में घुसकर बरसाई गोलियां

गोपालगंज में हत्या के बाद सड़क जाम

गोपालगंज में हत्या के बाद सड़क जाम

बिहार के गोपालगंज में दिनदहाड़े हुई हत्या की इस घटना से आक्रोशित व्यवसायियों ने सड़क जाम करने के बाद आगजनी की. मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची है.

  • Share this:

गोपालगंज. बिहार में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान भी बेखौफ अपराधियों का कहर जारी है. ताजा मामला गोपालगंज का है जहां अपराधियों ने गिट्टी-बालू के बड़े व्यवसायी दिलीप सिंह की दिनदहाड़े गोलियों से भून कर हत्या (Murder) कर दी. घटना कटेया थाना क्षेत्र के पंचदेवरी प्रखंड के जमुनहा बाजार की है. हत्या की वारदात दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो गई है.

इस घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है और लोगों में पुलिस के प्रति काफी आक्रोश है. 40 वर्षीय मृतक का नाम दिलीप सिंह है. वह कटेया के जमुनहा बाजार के बड़े गिट्टी-बालू व्यवसाई राजेंद्र सिंह के छोटे भाई हैं. दिलीप सिंह पंडित के नाम से भी जाने जाते थे. बताया जाता है कि सोमवार की सुबह करीब पौने 9 बजे वह अपने दुकान के काउंटर पर बैठे हुए थे, इसी दौरान बाइक पर सवार दो अपराधियों ने ताबड़तोड़ उनके ऊपर गोलियों की बौछार कर दी.

इस गोलीबारी में पीड़ित दिलीप सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें पंचदेवरी पीएचसी में भर्ती कराया गया लेकिन इलाज के दौरान ही उन की मौत हो गई. मौत की सूचना मिलते ही इलाके के लोग आक्रोशित हो गए और कटेया पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. अभी तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है.गोपालगंज के एसपी आनंद कुमार ने कहा कि मुख्य शूटर की पहचान कर ली गई है. एक नाम सामने आया है उसकी जांच की जा रही है.

एसपी ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज भी खंगाला जा रहा है. सीसीटीवी फुटेज से भी अपराधियों की पहचान करने की कोशिश की जा रही है. एसपी ने कहा कि हत्या के कारणों का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है कि हत्या की वजह क्या है, हालांकि कटेया बाजार में लोग रंगदारी को लेकर हत्या की चर्चा कर रहे हैं जबकि कुछ लोग जमीनी विवाद ही बता रहे हैं. स्थानीय सूत्रों के मुताबिक अपराधियों ने रंगदारी की मांग की थी. रंगदारी में पैसे भी दिए गए थे बावजूद इसके व्यवसायी को गोली मार दी गयी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज