ठेकेदार हत्याकांड: फरार इंजीनियर के चार ठिकानों पर एक साथ हुई कुर्की-जब्ती

29 अगस्त को गोपालगंज के चीफ इंजिनियर के नवनिर्मित आवास पर ठेकेदार रमाशंकर सिंह जलकर गंभीर रूप से झुलस गए थे. बाद में उनकी इलाज के दौरान गोरखपुर में मौत हो गयी थी. इस मौत के बाद मृतक के बेटे राणा प्रताप सिंह ने अपने पिता की 15 लाख रूपये घूस नहीं देने पर जिन्दा जलाकर हत्या करने का आरोप लगाया था

News18 Bihar
Updated: September 3, 2019, 3:38 PM IST
ठेकेदार हत्याकांड: फरार इंजीनियर के चार ठिकानों पर एक साथ हुई कुर्की-जब्ती
गोपालगंज के ठेकेदार हत्याकांड में कार्रवाई करती पुलिस
News18 Bihar
Updated: September 3, 2019, 3:38 PM IST
गोपालगंज: ठेकेदार (Contractor) रमाशंकर सिंह हत्याकांड को लेकर मंगलवार से गोपालगंज (Gopalganj) पुलिस ने आरोपी अभियंताओं (Engineers) के घरों की कुर्की-जब्ती की प्रक्रिया शुरू कर दी है. इस कड़ी में सबसे पहले गोपालगंज नगर थाना (Police Station) की पुलिस गंडक कॉलोनी स्थित अधीक्षण अभियंता जितेन्द्र प्रसाद सिंह के सरकारी आवास पर पहुंची. यहां अधीक्षण अभियंता के घर का ताला तोड़कर उसमें रखे सभी सामान को जब्त किया गया.

इन-इन ठिकानों पर हुई रेड

गोपालगंज कोर्ट से कुर्की जब्ती का आदेश मिलते ही आज गोपालगंज की कई टीमें एक साथ कैमूर के मोहनिया, रोहतास के नासरीगंज, पटना के बेली रोड, गोपालगंज के गंडक कॉलोनी पहुंची. यहां अधीक्षण अभियंता जितेन्द्र प्रसाद सिंह के सरकारी आवास की कुर्की जब्ती शुरू की गयी. यहाँ से सभी कीमती सामान और हर निजी चीज को जब्त कर उसकी सूचि बनायीं जा रही है.

छापेमारी के दौरान टूटा मिला दरवाजा

एक टीम इसी कॉलोनी में स्थित कार्यपालक अभियंता सत्येन्द्र कुमार के आवास पर पहुची और निजी सामान को जब्त किया. यहां कार्यपालक अभियंता के आवास पर जैसे ही पुलिस की टीम कुर्की के लिए पहुंची वहां सरकारी आवास का मुख्य गेट टूटा हुआ था. देखने से ऐसा लग रहा है की घर का दरवाजा तोड़कर उसमें प्रवेश किया गया है और कीमती सामान जैसे पैसे और नगदी निकाले गए हैं. हालांकि और सामान वैसे ही पड़ा हुआ था. हत्या की इस घटना के बाद से ही यहां पुलिस की टीम तैनात थी फिर आशंका जताई जा रही है कि आखिर कैसे दरवाजा टूटा.

इन आरोपियों के घर पर हुई कार्रवाई

मौके पर मौजूद मजिस्ट्रेट सह सदर सीओ विजय प्रताप सिंह ने कहा कि गंडक कॉलोनी स्थित जल संसाधन विभाग के चीफ इंजिनियर, अधीक्षण अभियंता और कार्यपालक अभियन्ता के आवास पर कुर्की की जा रही है. इसके अलावा सभी अभियंताओं के पैतृक गांव और घरों पर भी कुर्की की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.
Loading...

29 अगस्त को हुई थी घटना

दरअसल बीते 29 अगस्त को चीफ इंजिनियर के नवनिर्मित आवास पर ठेकेदार रमाशंकर सिंह जलकर गंभीर रूप से झुलस गए थे. बाद में उनकी इलाज के दौरान गोरखपुर में मौत हो गयी थी. इस मौत के बाद मृतक के बेटे राणा प्रताप सिंह ने अपने पिता की 15 लाख रूपये घूस नहीं देने पर जिन्दा जलाकर हत्या करने का आरोप लगाया था. इस मामले में जल संसाधन विभाग के चीफ इंजिनियर मुरलीधर सिंह, उनकी पत्नी कामिनी सिंह, अधीक्षण अभियंता जितेन्द्र प्रसाद सिंह और कार्यपालक अभियंता सत्येन्द्र सिंह को नामजद आरोपी बनाया गया था.

रिपोर्ट- मुकेश कुमार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 3:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...