गोपालगंज: जिला प्रशासन की लोगों से अपील, कहा- घर के अंदर ही मनाएं छठ महापर्व

लिहाज कोरोना काल में इस बार भी लोगों को अपने घरों में ही छठ महापर्व मनाना पड़ेगा. (सांकेतिक फोटो)

लिहाज कोरोना काल में इस बार भी लोगों को अपने घरों में ही छठ महापर्व मनाना पड़ेगा. (सांकेतिक फोटो)

गोपालगंज डीएम (Gopalganj DM) ने भी सभी धर्म के धर्म गुरुओं के साथ बैठक की है. और बैठक कर लोगों से अपील की गई है कि वे पर्व के मौके पर सार्वजनिक स्थलों पर खासकर मंदिर और मस्जिदों में न जाएं.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार (Bihar) में कोरोना (Corona) संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ रहा है. प्रदेश में रोज सैंकड़ों कोरोना संक्रमीत मरीज सामने आ रहे हैं. साथ ही कई लोगों की रोज मौत भी हो रही है. और इन सब के बीच आज से चैती छठ महापर्व (Chaiti chhat mahaparva) शुरू हो गया है. 4 दिनों तक चलने वाले इस छठ महापर्व के महा अनुष्ठान का आज पहला दिन है. और इसके साथ ही गोपालगंज शहर में छठ पर्व में इस्तेमाल होने वाली पूजा सामग्री दौरा, सूप और अन्य सामानों की बिक्री शुरू हो गई है. गोपालगंज शहर के बाजार छठ के प्रसाद और पूजा में इस्तेमाल होने वाले अन्य सामग्री की बिक्री के लिए सज गए हैं. हालांकि, दुकान पर लोगों की भीड़ नहीं है. और छठ पर्व के प्रसाद की खरीदारी करने के लिए इक्का- दुक्का लोग ही दुकान पर पहुंच रहे हैं.

जिला प्रशासन ने लोगों को हिदायत दी है और लोगों से अपील की गई है कि कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है. जिसको लेकर लोग किसी भी तालाब पर, नदी घाट पर या अन्य सार्वजनिक स्थलों पर पूजा- अर्चना नहीं करें, बल्कि लोग अपने घरों पर ही छठ महापर्व मनाए. लिहाज कोरोना काल में इस बार भी लोगों को अपने घरों में ही छठ महापर्व मनाना पड़ेगा.

घाटों पर न जाने की अपील की गई है

गोपालगंज डीएम ने भी सभी धर्म के धर्म गुरुओं के साथ बैठक की है. और बैठक कर लोगों से अपील की गई है कि वे पर्व के मौके पर सार्वजनिक स्थलों पर खासकर मंदिर और मस्जिदों में न जाएं. थावे दुर्गा मंदिर को बंद कर दिया गया है. जुम्मे की नमाज को लेकर भी मस्जिदों में लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है. छठ पर्व के लिए भी लोगों से घाटों पर न जाने की अपील की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज