लाइव टीवी

रिजर्व बैंक का फर्जी मैनेजर समेत चार गिरफ्तार, 60 लाख का लगा चुके थे चूना

Mukesh Kumar | News18 Bihar
Updated: December 15, 2019, 9:06 AM IST
रिजर्व बैंक का फर्जी मैनेजर समेत चार गिरफ्तार, 60 लाख का लगा चुके थे चूना
गोपालगंज में पकड़े गए फर्जीवाड़ा गैंग के बारे में जानकारी देते एसपी

एसपी (SP) के मुताबिक सोनू कुमार दुबे खुद आरबीआई (RBI) का फर्जी आईकार्ड बनाकर खुद को आरबीआई का मैनेजर बताता था और लोगो से पैसे की वसूली करता था. इस गिरोह के द्वारा बिहार और झारखण्ड में सैकड़ो लोगों से नौकरी के नाम पर वसूली की गयी है

  • Share this:
गोपालगंज. स्थानीय पुलिस ने आरबीआई (RBI) के फर्जी मैनेजर सहित चार शातिर ठगों को रंगेहाथ गिरफ्तार (Arrest) किया है. गिरफ्तार किये गए सभी शातिर ठगों के पास से पुलिस ने भारी मात्रा में सरकारी नौकरी से सम्बंधित फर्जी दस्तावेज, सेवा पुस्तिका और युवाओं के ऑरिजिनल सर्टिफिकेट भी बरामद किये हैं. पुलिस के मुताबिक इस ठग गिरोह एक द्वारा नौकरी के नाम पर अबतक 60 लाख रूपये की वसूली की गयी थी.

व्यवसायी से मांगी थी 10 लाख की रंगदारी

इस गिरोह के मास्टरमाइंड पर गोपालगंज के स्वर्ण व्यवसायी से 10 लाख रूपये की रंगदारी मांगने का भी आरोप है. पुलिस इस मामले में 10 मोबाइल फोन भी जब्त किया है. यह कारवाई एसपी के निर्देश पर बनाये गए स्पेशल पुलिस की टीम ने नगर थाना के यादोपुर चौक से किया है. गोपालगंज के एसपी मनोज कुमार तिवारी ने बताया कि गोपालगंज नगर थाना में कुछ दिनों पूर्व स्वर्ण व्यवसायी से 10 लाख रूपये रंगदारी मांगने की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. इस प्राथमिकी के बाद सदर एसडीपीओ के नेतृत्व में स्पेशल पुलिस टीम का गठन किया गया. इस टीम के द्वारा आज शनिवार को नगर थाना के यादोपुर चौक से अपराध की योजना बनाते चार अपराधियो को गिरफ्तार किया गया.

छापेमारी में मिले कई दस्तावेज

पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला की गिरफ्तार अपराधियों द्वारा ही नगर थाना क्षेत्र के स्वर्ण व्यवसायी से 10 लाख रूपये की रंगदारी की मांग की गई थी. इन अपराधियों के ठिकानों पर जब छापेमारी की गई तो वहां से पुलिस ने रेलवे में नौकरी से सम्बंधित कई फर्जी दस्तावेज, आरबीआई से सबंधित कई दस्तावेज और अन्य सरकारी से सम्बंधित कई सेवा पुस्तिका भी जब्त किया. इसके साथ ही कई फर्जी आई कार्ड, 10 मोबाइल फोन और कई सरकारी विभाग का मुहर भी जब्त किया गया.

60 लाख की वसूली की हुई पुष्टि

एसपी के मुताबिक रंगदारी के साथ साथ इस गिरोह के अपराधियों द्वारा नौकरी के नाम पर लोगों से लाखों रूपये की वसूली की जाती थी. पैसे वसूली के बाद उन्हें फर्जी सरकारी दस्तावेज दिए जाते थे. अब तक इन अपराधियों द्वारा 60 लाख रूपये की वसूली की पुष्टि हुई है. ये ठग युवाओं से लाखों रूपये वसूलते थे इसके साथ ही वे युवाओं से उनके ओरिजिनल सर्टिफिकेट भी जब्त कर लेते थे. गिरफ्तार ठगों का मुख्य सरगना सोनू कुमार दुबे है जो गोपालगंज नगर थाना के मालवीय नगर मोहल्ले का रहने वाला है. इसके अलावा इस गिरोह में सतीश कुमार , बैकुंठपुर , नविन कुमार रंजन , कुचायकोट और राहुल कुमार दरियापुर , गया शामिल है.बिहार और झारखंड था कार्यक्षेत्र

एसपी के मुताबिक सोनू कुमार दुबे खुद आरबीआई का फर्जी आईकार्ड बनाकर खुद को आरबीआई का मैनेजर बताकर लोगो से पैसे की वसूली करता था. इस गिरोह के द्वारा बिहार और झारखण्ड में सैकड़ो लोगों से नौकरी के नाम पर वसूली की गयी है. इनके पास से रंगदारी मांगने वाला मोबाइल फोन के अलावा कई मोबाइल फोन और अन्य आपत्तिजनक सामान बरामद किया है. इस गिरोह में अन्य सदस्यों की भी पहचान कर उनकी गिरफ़्तारी के लिए छापामारी की जाएगी.

ये भी पढ़ें- ड्यूटी से गायब मिले पुलिसवाले तो एसपी ने दारोगा समेत 21 को एक साथ किया सस्पेंड

ये भी पढ़ें- पटना में एक साथ दो पेट्रोल पंप से पांच लाख लूट ले गए अपराधी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 8:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर