होम /न्यूज /बिहार /नेपाल में भारी बारिश से बिहार के कई जिलों में बाढ़ की आशंका, गोपालगंज में तटबंधों की निगरानी

नेपाल में भारी बारिश से बिहार के कई जिलों में बाढ़ की आशंका, गोपालगंज में तटबंधों की निगरानी

नेपाल में भारी बारिश से गंडक नदी में उफान. गोपालगंज में बाढ़ का खतरा.

नेपाल में भारी बारिश से गंडक नदी में उफान. गोपालगंज में बाढ़ का खतरा.

'हथिया पुरवाई पावै, लौट चौमास लगावै'... मौसम के आदि वैज्ञानी रहे घाघ की यह लाइन आज भी अकाट्य है. हथिया नक्षत्र को पुरवा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

गोपालगंज के निचले इलाके में बाढ़ आने की आशंका से सहमे लोग.
43 गांवों पर फिर मंडराया बाढ़ का खतरा, प्रशासन ने अलर्ट किया.
हथिया नक्षत्र की बारिश से बाढ़ की तबाही का अंदेशा, लोग भयभीत.

गोपालगंज. एक बार फिर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. नेपाल में हो रही बारिश की वजह से गंडक नदी के जलस्तर में तेजी से वृद्धि हो रही है. गोपालगंज के छह प्रखंडों में 43 गांवों में बाढ़ आने की आशंका है. गंडक नदी में उफान से पश्चिमी चंपारण, सारण और गोपालगंज के निचले क्षेत्रों में पानी फैलने का खतरा है. इस बीच गोपालगंज के डीएम डॉ नवल किशोर चौधरी ने निचले इलाके में बसे लोगों के लिए अलर्ट जारी किया है. जल संसाधन विभाग और सभी प्रखंडों के सीओ को तटबंधों पर निगरानी रखने का निर्देश दिया गया है.

अक्टूबर महीने में बाढ़ आने की आशंका को लेकर गोपालगंज के 43 गांव के लोग चिंता में डूबे हैं. पिछले 24 घंटे में बाल्मीकिनगर बराज में 30 हजार क्यूसेक से पानी डिस्चार्ज बढ़कर 3.69 लाख क्यूसेक पर शाम 7 बजे पहुंच गया. यह पानी शुक्रवार की दोपहर तक जिले में पहुंचने की संभावना है. वैसे गुरुवार की रात पतहरा में गंडक नदी खतरे के निशान से एक मीटर ऊपर पहुंच चुकी थी. जो गुरुवार को बढ़कर एक मीटर से भी ऊपर हो सकती है.

नेपाल में हो रही बारिश को लेकर जल संसाधन विभाग ने हाइअलर्ट जारी किया है. इंजीनियरों को तटबंधों पर मुस्तैद रहने को कहा गया है. उधर, नदी में तेजी से बढ़ रहे जलस्तर से निचले इलाका के 43 गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. कुचायकोट, सदर, मांझा, बरौली, सिधवलिया व बैकुंठपुर प्रखंड में प्रशासन को भी अलर्ट रहने को कहा गया है. नदी के मिजाज का पलपल आंकलन किया जा रहा है.

दियारा इलाके में लोग अपने-अपने सामानों को फिर से सुरक्षित करने में जुट गए हैं. लोग अब निश्चिंत हो गए थे कि इस वर्ष बाढ़ से निजात मिली. लेकिन लौटते मॉनसून इनकी नींद को हराम कर दिया है. उधर, विशंभरपुर में कार्यापालक अभियंता श्रीनिवास प्रसाद, पतहरा में कार्यपालक अभियंता श्रवण कुमार व्यास, जेइ ऋषभ कुमार, नेमुइया में अली असगर, पतहरा में एसडीओ ओसामा आरिश आदि निगरानी में जुटे हैं.

Tags: Bihar flood, Bihar News, Flood, Flood alert, Flood in India, Gopalganj news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें