गोपालगंज: भारी बारिश से गंडक के जलस्तर में वृद्धि, निचले इलाकों में भरा पानी, पलायन को मजबूर हुए लोग

गोपालगंज में गंडक नदी के निचले इलाकों से लोगों का पलायन शुरू

Flood In Bihar: गोपालगंज सदर प्रखंड के कुछ इलाकों में गंडक के पानी के बढ़ते ही गांव में पानी आ जाता है. जिसकी वजह से इस इलाके के लोग चारों तरफ से पानी से घिर जाते हैं.

  • Share this:
गोपालगंज. लगातार कई दिनों की बारिश की वजह से गंडक के जलस्तर में मामूली बढ़ोतरी हुई है. इससे गोपालगंज सदर अनुमंडल के दियारा इलाकों में ग्रामीणों की परेशानी बढ़ गई है. पानी बढ़ने के साथ ही सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण अब अपना घर बार छोड़कर दूसरे जगहों पर पलायन करने लगे हैं. सदर प्रखंड के खाप मकसूदपुर और जगरी टोला गांव के निचले इलाके के लोग अपने घरों को छोड़कर अपने रिश्तेदारों के यहां या किसी ऊंचे सुरक्षित स्थान की ओर लगातार जाने लगे हैं. जीप, ट्रैक्टर या दूसरे साधन से लोग अपने सामान को समेट कर अपने घर वालों को लेकर कहीं और जा रहे हैं.

मकसूदपुर गांव के वीर बहादुर चौधरी के मुताबिक गंडक का जलस्तर बढ़ रहा है जिसकी वजह से वह अपने घर को छोड़कर, कीमती सामानों को लेकर अपने रिश्तेदारों के यहां जा रहे हैं. मॉनसून आने में भले ही अभी कुछ दिन देर हो लेकिन साइक्लोन यास और ताऊते की वजह से बारिश के बाद गंडक का जलस्तर बढ़ा है. जगरीटोला गांव के किसान संजय कुमार के मुताबिक वे अपने परिवार के सभी सदस्यों को अपने रिश्तेदारों के पास लेकर जा रहे हैं. इनकी तरह सैकड़ों लोग इस गांव से पलायन कर चुके हैं. दिन-रात लोग ट्रैक्टर से और अन्य संसाधनों से अपना समान ढो रहे हैं.

बता दें कि गोपालगंज सदर प्रखंड का यह इलाका गंडक के निचले क्षेत्रों में आता है जिससे गंडक के पानी के बढ़ते ही गांव में पानी आ जाता है. जिसकी वजह से इस इलाके के लोग चारों तरफ पानी से घिर जाते हैं. हर साल इन्हें बाढ़ की त्रासदी और कटाव के दंश झेलना पड़ता है. इस बार भी वे मानसून के आने से पहले ही पलायन करना शुरू कर दिए हैं।जिला प्रशासन के द्वारा भी लोगों से अपील की गई है कि वे बाढ़ संभावित इलाकों को छोड़कर ऊंचे स्थान पर चले आएं। ताकि जानमाल के नुकसान को कम किया जा सके।बाइट 01 - संजय कुमार, ग्रामीण जगरिटोला।बाइट 02 - बीर बहादुर चौधरी, खाप मकसूदपुर।