बिहार: तेजस्वी के 'मास्टरप्लान' पर बोली BJP- हिम्मत है तो गोपालगंज से चुनाव लड़कर दिखाएं
Gopalganj News in Hindi

बिहार: तेजस्वी के 'मास्टरप्लान' पर बोली BJP- हिम्मत है तो गोपालगंज से चुनाव लड़कर दिखाएं
तेजस्वी यादव को बीजेपी नेता मिथिलेश तिवारी ने गोपालगंज से विधानसभा चुनाव लड़ने की चुनौती दी.

आरजेडी (RJD) के इस ताबड़तोड़ हमले के बाद एनडीए ने भी अब मोर्चा संभाल लिया है. बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और गोपालगंज (Gopalganj) के बैकुंठपुर विधायक मिथिलेश तिवारी ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) को खुली चुनौती दी है.

  • Share this:
पटना. गोपालगंज के हथुआ में हुए ट्रिपल मर्डर (Triple murder in Hathua of Gopalganj) मामले को लेकर बिहार की राजनीति गरमा गई है. खासकर आरजेडी इस पूरे मामले को लेकर सरकार को घेरने के मूड में है. यही कारण है कि तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) के बाद अब लालू के हुनमान कहे जाने वाले रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh prasad singh ) भी इस लड़ाई में कूद गए हैं और नीतीश सरकार पर दो तरफा हमला बोल रहे हैं. पहले तेजस्वी ने नीतीश सरकार (Nitish Government) को चेतावनी देते हुए कहा कि हत्याकांड के आरोपी जेडीयू विधायक पप्पू पांडे (JDU MLA Pappu Pandey) को सरकार जल्द से जल्द गिरफ्तार करे नहीं तो गोपालगंज में तेजस्वी अपने सभी विधायकों के साथ आंदोलन करेंगे. इसके बाद आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने भी सीधे-सीधे बिहार के मुखिया और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) को टारगेट किया.

रघुवंश भी कूदे मैदान में
रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि इस सरकार का अब इकबाल खत्म हो गया है. अपराधी और गुंडे बेखौफ गुंडागर्दी और हत्याएं कर रहे हैं. इससे साफ लगता है कि इन अपराधियों को कहीं न कहीं से सरकार का संरक्षण प्राप्त है, तभी ये अपराधी बेखौफ तांडव मचा रहे हैं. रघुवंश प्रसाद ने कहा कि नीतीश कुमार सुशासन और कानून के राज की बात करते हैं जबकि सूबे में आज आतंक और कुशासन राज है. इस कुशासन राज को हर हाल में आरजेडी इस बार जड़ से उखाड़ फेंकेगी.

एनडीए ने भी संभाला मोर्चा
आरजेडी के इस ताबड़तोड़ हमले के बाद एनडीए ने भी अब मोर्चा संभाल लिया है. बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और गोपालगंज के बैकुंठपुर विधायक मिथिलेश तिवारी ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को खुली चुनौती देते हुए कहा कि तेजस्वी जिस गोपालगंज में आकर आंदोलन करने की चेतावनी दे रहे हैं तो उन्हें हम चुनौती देते हैं कि वो अपने पिता लालू यादव के गृह जिले से चुनाव लड़कर दिखाएं.



तेजस्वी यादव को खुली चुनौती
बीजेपी विधायक ने तेजस्वी को ललकारते हुए कहा कि 'हिम्मत है तो तेजस्वी गोपालगंज से चुनाव लड़कर दिखाएं'. यही नहीं विधायक मिथिलेश तिवारी ने कहा कि लालू यादव भी अपने गृह क्षेत्र गोपालगंज में कई बार अपनी राजनीतिक जमीन तलाशने की कोशिश कर चुके हैं, लेकिन अब तक कुछ हासिल नहीं पाया है.  अगर तेजस्वी यादव को खुद की काबिलियत पर बहुत भरोसा है तो वो भी एक बार गोपालगंज से अपना भाग्य आजमा कर देख लें. सारा कन्फ्यूजन दूर हो जाएगा.

लालू की स्ट्रेटजी पर आरजेडी की रफ्तार हुई तेज
पिछले दो दिनों में जिसतरह से तेजस्वी यादव इस हत्याकांड को लेकर अग्रेसिव हुए हैं और फिर नीतीश सरकार पर हमला बोल रहे हैं इसके पीछे दरअसल एक बड़ी स्ट्रेटजी है जिसे लालू यादव ने तैयार ही किया है ..तेजस्वी का यह अग्रेसन और इस हत्याकांड को एक नरसंहार का रूप देना दरअसल यह लालू के ही मास्टरप्लान का हिस्सा है.

ये है तेजस्वी का मास्टरप्लान
राजनीतिक जानकार मानते हैं कि दरअसल इसी साल बिहार में चुनाव होने हैं. ऐसे में तेजस्वी और उनकी पूरी सेना इस मुद्दे को भुनाने और इसका चुनावी फायदा उठाने की कोशिश में है. इसके अलावे दूसरा एक बड़ा कारण ये भी है कि घायल जेपी यादव के अलावे जो उनके परिवारवालों की इस गोलीकांड में जान गई है, ये सभी यादव जाति से आते हैं जो लालू और राष्ट्रीय जनता दल के कोर वोटर्स भी हैं. वहीं, सतीश पांडे और उनके छोटे भाई अमरेंद्र पांडे उर्फ पप्पू पांडे का लालू यादव और उनकी पार्टी से शुरू से ही छत्तीस का आंकड़ा रहा है.

लालू का पैतृक जिला है गोपालगंज
लालू यादव का गोपालगंज एक पैतृक जिला भी है फिर भी अपने जिले में लालू अपनी राजनीतिक जमीन अबतक मजबूत नहीं कर पाए हैं. इसके पीछे एक बड़ी वजह सतीश पाण्डे और विधायक पप्पू पांडे का इनके खिलाफ खुलकर विरोध करना भी है.

लालू के बाद अब उनके बेटे तेजस्वी यादव ने भी मोर्चा संभाल लिया है तेजस्वी एक तीर से दो निशाने लगाने में लगे हैं. पहला इस मुद्दे को चुनाव तक ले जाकर इसका राजनीतिक फायदा उठाने की होगी कोशिश और दूसरा पांडे परिवार पर मजबूत जीत हासिल करके गोपालगंज में अपनी जमीन मजबूत करने की तैयारी.

गौरतलब है कि इस हत्याकांड के बाद  सतीश पांडे और उनके बेटे को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया है जबकि आरोपी जेडीयू विधायक अमरेंद्र पांडे उर्फ पप्पू पांडे पर पुलिस ने उनकी गिरफ्तार के लिए दवाब बढ़ाना शुरू कर दिया है.

ये भी पढ़ें

वर्चस्व की लड़ाई में एक महीने के दौरान 5 हत्या, पढ़ें, गोपालगंज में जारी गैंग्स ऑफ हथुआ के खूनी संघर्ष की इनसाइड स्टोरी

Bihar Matric Result 2020: कम अंक पाने वाले छात्र स्क्रूटनी के लिए कल से कर सकेंगे आवेदन, ये है प्रकिया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading