बिहार: अवैध खनन करनेवालों की जब्त की जाएगी संपत्ति, सरकार ने टास्क फोर्स का किया गठन

गोपालगंज में अवैध खनन के लिए खड़ी गाड़ियां.

गोपालगंज में अवैध खनन के लिए खड़ी गाड़ियां.

Gopalganj News: खनन एवं भूतत्व मंत्री जनक राम ने कहा कि सरकार ने कानून भी बनाया है और इसके तहत अवैध खनन से जुड़े लोगों की अर्जित की गई अवैध संपत्ति जब्त की जाएगी.

  • Share this:

गोपालगंज. खनन एवं भूतत्व मंत्री जनक राम के गृह जिले में भी अवैध खनन का खेल जारी है. यहां पर बालू माफियाओं के द्वारा गंडक नदी के दियारा इलाके से रोजाना सैकड़ों गाड़ियां बालू की ढुलाई की जाती है. इस बालू का उपयोग सड़कों के निर्माण कार्य में किया जा रहा है. हालांकि मंत्री जनक राम ने कहा है कि अवैध खनन से अर्जित की गई संपत्ति जब्त की जाएगी.

अवैध खनन को लेकर जब विभागीय मंत्री जनक राम ने कहा कि यह सरकार के लिए भी बड़ी चुनौती है. इसको लेकर पूरे जिले में डीएम की अध्यक्षता में टास्क फोर्स का गठन किया गया है. अवैध खनन से जुड़े लोगों पर कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने कानून भी बनाया है और इसके तहत अवैध खनन से जुड़े लोगों की अर्जित की गई अवैध संपत्ति को भी जब्त किया जाएगा.

बता दें कि मांझागढ़ के दियारा इलाके के अलावा गोपालगंज सदर प्रखंड के तुरकाहा के समीप सुंदरपट्टी और कबिलासपुर की तरफ जाने वाले दोनों रास्ते में भी अवैध खनन का खेल रोजाना चलता है. यहां पर आधा दर्जन जेसीबी और पोकलेन से बालू का अवैध खनन किया जाता है. फिर उसे बड़े ट्रकों से ढुलाई की जाती है. यह सब कुछ तब खुलेआम चल रहा है.

खनन एवं भूतत्व मंत्री जनक राम ने पूरे बिहार में डीएम और एसपी की अध्यक्षता में टास्क फोर्स का गठन करने का दावा किया है. मंत्री जनक राम के मुताबिक पूरे बिहार में अवैध खनन को लेकर टास्क फोर्स का गठन किया गया है. इस टास्क फोर्स के द्वारा लगातार छापेमारी की जा रही है. अवैध खनन से जुड़े लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है. कई गाड़ियां जब्त की गई है.
मंत्री के दावे से इतर सच कुछ और है. गोपालगंज के मांझागढ़ प्रखंड के गौसिया के दियारा इलाके से जब गुजरेंगे तो खनन बंद होने के बावजूद अवैध खनन वाले बालू को ढोने के लिए सैकड़ों गाड़ियां खड़ी हैं. खनन के दौरान निजी कंपनी के कर्मी अगम प्रसाद ने बताया कि उनके द्वारा रोजाना 2 दर्जन से अधिक गाड़ियां से मिट्टी की ढुलाई होती है, जो अवैध खनन से नहीं की जाती हैं.

हालांकि, गौसिया पंचायत के पूर्व मुखिया व वर्तमान मुखिया प्रतिनिधि राधारमण मिश्रा के मुताबिक इस इलाके में 6 महीने से बालू का अवैध खनन जारी है. सैकड़ों गाड़ियां बालू का अवैध खनन करने के बाद गोपालगंज और मीरगंज के इलाके में ले जाती हैं. इन गाड़ियों से ग्राम पंचायत द्वारा बनाई गई सड़कें भी पूरी तरह टूट गई हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज