होम /न्यूज /बिहार /

एंबुलेंस में नहीं था कोई मरीज, फिर भी चालक बजाए जा रहा था सायरन, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

एंबुलेंस में नहीं था कोई मरीज, फिर भी चालक बजाए जा रहा था सायरन, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

यूपी नंबर की वह एंबुलेंस जिससे की जा रही थी तस्करी. इनसेट में दिख रही है जब्त की गई शराब की पेटी और गिरफ्तार शख्स.

यूपी नंबर की वह एंबुलेंस जिससे की जा रही थी तस्करी. इनसेट में दिख रही है जब्त की गई शराब की पेटी और गिरफ्तार शख्स.

Liquor Mafia: खबर के साथ लगी तस्वीर एंबुलेंस की दिख रही है. लेकिन आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि इस एंबुलेंस की सेवा मरीज ढोने के लिए नहीं ली जा रही थी. बल्कि UP57T6522 नंबर की इस एंबुलेंस के जरिए शराब तस्करी की जा रही थी. इसी एंबुलेंस से हरियाणा निर्मित 73 कार्टन विदेशी शराब बरामद की गई है, जिसकी कीमत तकरीबन 7 लाख रुपए है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

हरियाणा और यूपी के एंबुलेंस से बिहार में की जा रही शराब सप्लाई, चौथा मामला सामने आया.
गोपालगंज में एंबुलेंस ने मारी इंट्री, तो पुलिस ने जांच की. गुप्त तहखाने में छुपाई गई शराब मिली.
एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार कर लिया गया, 7 लाख रुपए मूल्य की 73 कार्टन विदेशी शराब जब्त.

गोपालगंज. शराबबंदी वाले बिहार में अब एंबुलेंस से शराब तस्करी का खेल शुरू हो गया है. हरियाणा और यूपी से एंबुलेंस के जरिए शराब की तस्करी कर बिहार में सप्लाई की जा रही है. यह खुलासा गोपालगंज में उत्पाद विभाग की टीम ने किया है. उसने एक एंबुलेंस से 7 लाख रुपए की विदेशी शराब बरामद की है. पिछले 3 महीने में एंबुलेंस से शराब तस्करी का यह चौथा मामला है.

खबर के साथ लगी तस्वीर एंबुलेंस की दिख रही है. लेकिन आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि इस एंबुलेंस की सेवा मरीज ढोने के लिए नहीं ली जा रही थी. बल्कि UP57T6522 नंबर की इस एंबुलेंस के जरिए शराब तस्करी की जा रही थी. इसी एंबुलेंस से हरियाणा निर्मित 73 कार्टन विदेशी शराब बरामद की गई है, जिसकी कीमत तकरीबन 7 लाख रुपए है. इस एंबुलेंस में गुप्त तहखाना बनाकर शराब छुपाई गई थी. उत्पाद विभाग की टीम ने इस एंबुलेंस को गुरुवार सुबह कुचायकोट थाने के बघउच रोड पर तब पकड़ा, जब यह यूपी की तरफ से सायरन बजाती हुई बिहार में इंट्री कर रही थी.

उत्पाद विभाग की टीम को इस खाली एंबुलेंस पर तब शक हुआ जब यह सायरन बजाते हुए आई. इस एंबुलेंस को रोककर जांच की उत्पाद विभाग ने जांच की. जांच के दौरान एंबुलेंस की हकीकत सामने आ गई. तब इस एंबुलेंस के चालक आदित्य कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया. वह पूर्वी चंपारण के पहाड़पुर गांव का रहनेवाले बताया जा रहा है.

उत्पाद अधीक्षक के मुताबिक, एंबुलेंस से जब्त की गई शराब की कीमत 7 लाख रुपए है. गिरफ्तार तस्कर ने खुद को बोलेरो चालक बताया. उसने कहा कि वह यह काम पहली बार कर रहा है. बता दें कि इसके पहले भी कई एंबुलेंस शराब की तस्करी में पकड़ी जा चुकी हैं. यूपी-बिहार के बलथरी चेकपोस्ट पर पिछले 3 महीने में एंबुलेंस से शराब तस्करी का ये चौथा मामला है.

Tags: Ambulance, Bihar Liquor Smuggling, Trending news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर