Home /News /bihar /

most wanted criminal vivek singh arrested from haryana panipat nodmk8

गोपालगंज का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी हरियाणा के पानीपत से गिरफ्तार, 3 साल से था फ़रार

पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पता लगाया था कि बिहार में आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर कुख्यात विवेक सिंह ने पानीपत में अपने छिपने का ठिकाना बनाया है

पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पता लगाया था कि बिहार में आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर कुख्यात विवेक सिंह ने पानीपत में अपने छिपने का ठिकाना बनाया है

Bihar News: गोपालगंज के पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार ने बताया कि भोरे थाना क्षेत्र के दक्षिण टोला निवासी कुख्यात अपराधी विवेक सिंह हरियाणा के पानीपत में छिपकर रह रहा था. उस पर भोरे थाना क्षेत्र के चर्चित उद्योगपति रामाश्रय सिंह की गोली मारकर हत्या करने, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, रंगदारी समेत 12 से ज्यादा मामले दर्ज हैं. विवेक सिंह अपराध की दुनिया में पिछले 10 वर्षों से सक्रिय था

अधिक पढ़ें ...

गोपालगंज. बिहार एसटीएफ और गोपालगंज पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए मोस्ट वॉन्टेड और 50 हजार रुपये के ईनामी अपराधी विवेक सिंह को हरियाणा के पानीपत (Panipat) से गिरफ्तार किया है. विवेक सिंह पानीपत में पुरवाला थाना क्षेत्र के जसवीर कॉलोनी में छिपकर रह रहा था. अपराधी विवेक सिंह की गिरफ्तारी से गोपालगंज (Gopalganj) की पुलिस ने राहत की सांस ली है. पुलिस अधीक्षक (एसपी) आनंद कुमार ने बताया कि भोरे थाना क्षेत्र के दक्षिण टोला निवासी कुख्यात अपराधी विवेक सिंह पर यहां के चर्चित उद्योगपति रामाश्रय सिंह की गोली मारकर हत्या करने, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, रंगदारी समेत 12 से ज्यादा मामले दर्ज हैं. विवेक सिंह अपराध की दुनिया में पिछले 10 वर्षों से सक्रिय था.

एसपी ने बताया कि पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पता लगाया था कि बिहार में आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर कुख्यात विवेक सिंह ने पानीपत में अपने छिपने का ठिकाना बनाया है. हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार के नेतृत्व में विशेष छापेमारी दल का गठन किया गया. इसमें एसटीएफ को शामिल कर टीम को हरियाणा रवाना किया गया. एसटीएफ की मदद से विवेक सिंह को पानीपत की एक कॉलोनी में उसके घर के कमरे से गिरफ्तार किया गया, इसके बाद पुलिस उसे गोपालगंज लेकर आई.

उन्होंने बताया कि विवेक सिंह लूट और रंगदारी के मामले में पूर्व में जेल जा चुका है. तीन साल पहले वो जमानत पर जेल से बाहर निकला था मगर उसके बाद उसने रंगदारी के लिए भोरे के रहनेवाले उद्योगपति रामाश्रय सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी थी. वारदात के बाद से ही पुलिस को विवेक सिंह की तलाश चल रही थी. विवेक सिंह कुख्यात गैंगेस्टर विशाल सिंह, परमेंद्र सिंह और जेपी यादव गैंग का सक्रिया सदस्य रहा है.

Tags: Bihar News in hindi, Crime News, Gopalganj Police, Panipat crime news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर